इतिहास में पहली बार भारतीय रेलवे अपने यात्रियों को मसाज सेवा उपलब्ध कराने वाली है. शुरुआत में ये सेवा इंदौर से चलने वाली मात्र 39 ट्रेनों में दी जाएगी.  

रेलवे के अधिकारी ने बताया कि पश्चिमि रेलवे ज़ोन के रतलाम डिविज़न के ओर से ये प्रस्ताव आया था, जिसे मंज़ूरी मिल गई है.  

Source: News18

'रेलवे के इतिहास में ये पहली बार हुआ है कि चलती ट्रेन में यात्रियों को मसाज सेवा दी जाएगी. इससे रेवेन्यु और यात्रियों की संख्या में इज़ाफ़ा होगा. रेलवे को इससे अतिरिक्त सालाना 20 लाख रुपये की कमाई होगी और टिकटों की बिक्री से उम्मीद की जा रही है कि सालाना कमाई 90 लाख तक होगी.' रेलवे अधिकारी ने कहा.  

Source: energyinfrapost

रेलवे बोर्ड के मीडिया एंड कम्युनिकेशन डायरेक्टर राजेश बाजपई ने ये पुष्टी की है कि रेलवे द्वारा ये कॉन्ट्रेक्ट साइन कर दिया गया है.  

दो किस्म के मसाज उपलब्ध कराए जाएंगे, हेड और फ़ुट. प्रति मसाज 100 रुपया चार्ज किया जाएगा.  

रेलवे के विभिन्न ज़ोन और डिविज़नों को मुनाफ़ा बढ़ाने के नए-नए तरीके ढूंढने के लिए कहा गया था. ये परियोजना उसी स्कीम के तहत शुरू की गई है.