केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि देश में बेरोज़गारी नहीं बढ़ी है, अगर बढ़ी होती तो देश में कोई बड़ा आंदोलन हुआ होता, युवाओं का रोष दिखता. ख़ैर, चैन्नई के असेंबली सेक्रेट्रिएट में 14 साफ़-सफ़ाई के कामों के लिए 4 हज़ार लोगों ने आवेदन भेजा है. आवेदनकर्ताओं में एम.बी.ए, इंजीनियरिंग और अन्य विषयों में डिग्रीधारक भी हैं.

3930 आवेदनकर्ताओं को इंटरव्यू के लिए एडमिट कार्ड भेज दिया गया है. असेंबली सेक्रेट्रिएट में 14 में से, 10 पोस्ट झाड़ू लगाने वाले और 4 साफ़-सफ़ाई करने वालों की भर्ती होनी है. दोनों पदों की सैलरी Rs. 15,700 से Rs 50,000 निर्धारित है.

Source: hindustan times

रोस्टर के अनुसार, 4 सामान्य वर्ग के, 4 ओबीसी, 3 अती पीछड़े वर्ग, 2 सिड्यूल कास्ट और 1 सिड्यूल ट्राइब के आवेदनकर्ता को ये नौकरी मिलेगी. इस काम के लिए किसी शिक्षा स्तर आवश्यक नहीं है, केवल शारीरिक योग्यता ज़रूरी है.

इन 14 पदों के लिए ज़्यादातर वैसे लोगों ने आवेदन भरा है जिनके पास कोई डिग्री नहीं है, फिर भी उनका मुक़ाबला वैसे आवेदकों से होना है जिनके पास एम.टेक, एम.कॉम, एम.बी.ए आदि की डिग्री है. नौकरी बदलने की चाहत रखने वालों ने भी आवेदन भरा है.

14 पदों की भर्ती के लिए अगस्त, 2018 में विज्ञापन निकाला गया था, लेकिन आवेदन भरने में इज़ाफ़ा तब हुआ जब तमिलनाडु सरकार की वेबसाइट पर एडमिट कार्ड निकाले गए. ये आकड़े बताते हैं कि तमिलनाडु में रोज़गार की भारी किल्लत है, यहां तक कि उच्च शिक्षा प्राप्त युवा भी नौकरी के लिए भटक रहे हैं.

Article Source: hindustantimes