साल 2001 में एक फ़िल्म आयी थी 'नायक'. फ़िल्म का हीरो है शिवाजीराव यानी अनिल कपूर. आपने फ़िल्म ज़रूर देखी होगी. मगर आपकी याददाश्त को ताज़ा कर देते हैं. फ़िल्म की कहानी ऐसे घूमती है कि शिवाजीराव 1 दिन के मुख्यमंत्री बन जाते हैं. 

Source: theamateurmediablog

बस समझ लीजिये कि ऐसा ही कुछ फ़िल्म नगरी से क़रीब 1500 किलोमीटर दूर मेरठ शहर में भी ऐसा ही कुछ हुआ है. मेरठ के पॉश इलाके ट्रांसपोर्ट नगर में दसवीं की एक छात्रा रानी को 1 दिन के लिये थानेदार बना दिया गया. मेरठ के 'जसवंत राय इंटर कालेज' मलियाना की इस छात्रा ने इस दौरान लोगों की समस्याएं सुनीं और उन्हें हल भी किया.

अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसा क्यों हुआ? तो चलिए हम बताते हैं.

दरअसल, 20 नवम्बर को दुनिया भर में 'अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस' मनाया जाता है. ये दिवस बाल अधिकारों के प्रति जागरूकता और सुरक्षा के लिये मनाया जाता है. अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस के दिन ट्रांसपोर्ट नगर के थानेदार विजय गुप्ता ने ये सराहनीय प्रयोग किया. 

Source: twitter

इस दौरान छात्रा रानी के थाने पहुंचते सारी कार्रवाई शुरू की गयी. सारे डाक्यूमेंट्स तैयार किये गए. भर्ती और स्वागत के बाद रानी ने काम के तरीकों को जाना. आने वाले लोगों की समस्याओं को सुना. रानी ने वाहनों की चेकिंग भी की और लोगों को जागरूक भी किया.