मिलिए, अहमदाबाद के 6 वर्षीय अरहम तलसानिया से. अरहम ने कम्प्यूटर प्रोगामिंग की दुनिया में ऐसा कारनामा करके दिखाया है जिससे 'गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड' में अपना नाम दर्ज किया गया है.  

दरअसल, अरहम तलसानिया ने 6 साल की उम्र में कठिन 'पायथन' प्रोग्रामिंग लैंग्वेज परीक्षा को क्लियर करके गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है. ये परीक्षा 23 जनवरी 2020 को माइक्रोसोफ्ट द्वारा अधिकृत पियर्सन व्यू टेस्ट सेंटर में आयोजित की गई थी. इस परीक्षा को क्रैक करना इंजीनियरों के लिए भी मुश्किल होता है, लेकिन अरहम ने ये कर दिखाया.  

Source: news18

इसके साथ ही अरहम पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश नागरिक 7 वर्षीय मुहम्मद हमजा शहजाद के पहले के 'गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड' को तोड़ते हुए सबसे कम उम्र के 'कम्प्यूटर प्रोग्रामर' बन गए हैं. अरहम का नाम 'गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड' में दुनिया के सबसे युवा 'कम्प्यूटर प्रोग्रामर' के तौर पर दर्ज किया गया है.  

Source: sandesh

इस कठिन परीक्षा में उम्मीदवार को प्रतिष्ठित प्रमाण प्राप्त करने के लिए 1000 में से 700 अंक चाहिए होते हैं, लेकिन अरहम ने 900 अंक हासिल किए. अरहम को माइक्रोसोफ्ट टेक्नोलॉजी एसोसिएट के रूप में मान्यता मिली है.  

Source: bhaskar

अरहम के पिता हैं सॉफ़्टवेयर डेवलपर  

अहमदाबाद में रहने वाले अरहम के पिता ओम तलसानिया पेशे से सॉफ़्टवेयर इंजीनियर है, जबकि उनकी मां तृप्ति तलसानिया इंजीनियर और लेक्चरर हैं. इस परिवार के लिए ये बेहद ख़ुशी का दिन है क्योंकि उनके बेटे ने दुनिया के सबसे छोटे 'कम्प्यूटर प्रोग्रामर' होने का गौरव हासिल किया है.  

Source: latestly

अरहम के पिता ओम तलसानिया ने बताया कि, अरहम को पहले से इन सभी चीजों में काफ़ी दिलचस्पी थी. इसके बाद मैंने ख़ुद ही उसे सारी चीजें सिखाई. अरहम ने रोजाना 1-1 घंटे की ट्रेनिंग ली. बाद में वो धीरे-धीरे ख़ुद ही प्रोग्राम बनाने लगा था. इसके बाद ही मैंने अरहम को माइक्रोसॉफ्ट की परीक्षा दिलाने का फ़ैसला किया.