आज 1 अप्रैल है और आज से नए वित्त वर्ष की शुरुआत हो रही है. इसी के साथ ही देश की बैंकिंग प्रणाली में बहुत बड़ा बदलाव होने जा रहा है. रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया के निर्देशों के अनुसार आज से देश के 10 बड़े बैंकों को मर्ज कर उन्हें चार बड़े बैंकों में बदल दिया जाएगा. 

businesstoday

ये देश के वित्तीय क्षेत्र का सबसे बड़ा विलय होगा. इसका मकसद देश में विश्व स्तरीय बड़े बैंक बनाना है. इस विलय के लिए इन सभी बैंकों को 55,250 करोड़ रुपये दिए जाएंगे. 

किस बैंक में किसका मर्जर होगा.

business

-ओरिएंटल बैंक ऑफ़ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ़ इंडिया का पंजाब नेशनल बैंक में मर्जर होगा. 

-केनरा बैंक का सिंडिकेट बैंक में विलय होगा. 
-यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया में आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक को मर्ज किया जाएगा. 
-इलाहाबाद बैंक का विलय इंडियन बैंक में कर दिया जाएगा. 

इससे कस्टमर को घबराने की ज़रूरत नहीं है. वो बैंकिंग से जुड़े अपने सारे काम कर सकते हैं. हो सकता है उन्हें भविष्य में नई पासबुक, चेकबुक और कस्टमर आईडी प्रदान की जाए. इसके लिए बैंक आपको पहले ही से ही सूचित कर देगा. 

इस मर्जर के बाद भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की संख्या 27(2017) से घटकर 12 हो जाएगी. 


Newsके और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.