बीते मंगलवार को महाराष्ट्र में फ़ंसे बिहार के सैकड़ों मज़दूरों से भरी एक ट्रेन को बिहार के लिए रवाना किया गया. लेकिन मध्य प्रदेश पहुंचने तक ट्रेन में बैठे मज़दूर खाने को लेकर आपस में उलझ पड़े. 

Source: aljazeera

मंगलवार सुबह ये ट्रेन लगभग 1,200 प्रवासी मज़दूरों को लेकर मुंबई के कल्याण स्टेशन से बिहार के दानापुर स्टेशन के लिए निकली थी. दोपहर के समय ट्रेन मध्यप्रदेश के सतना स्टेशन पहुंची थी. इस दौरान भोजन वितरण को लेकर मज़दूरों की झड़प हो गई. 

Source: twitter

एनडीटीवी के पत्रकार Anurag Dwary ने एक वीडियो शेयर करके इसकी जानकारी दी. वीडियो में ट्रेन के अंदर कई मज़दूर आपस में मारपीट करते हुए दिखाई दे रहे हैं. एक दूसरे को गालियों के साथ ही लात-घूंसे भी मार रहे हैं. 

इस दौरान एक मज़दूर का कहना था कि, ट्रेन के एक डिब्बे के सभी लोगों को भोजन के 24 पैकेट वितरित किए जा रहे थे, लेकिन हमारे कोच में किसी को भी भोजन नहीं मिला. इस बात को लेकर जब हमने सवाल उठाया तो उन लोगों ने हमारे साथ मारपीट शुरू कर दी. 

Source: twitter

इस दौरान रेलवे पुलिस ने हस्तक्षेप करने की कोशिश की, लेकिन कोरोना संक्रमण के डर से वो ट्रेन के अंदर नहीं जा सके. पुलिस बाहर से ही ट्रेन की खिड़की पर डंडे पीटकर इन मज़दूरों को शांत कराने की कोशिश में लगी रही, लेकिन ये लोग इतने भूखे थे कि अपने गुस्से पर काबू ही नहीं कर पाए. इस दौरान झड़प तब तक जारी रही जब तक कि ये लोग थक नहीं गए. 

Source: twitter

केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों के मुताबिक़, लॉकडाउन के कारण महानगरों में फंसे प्रवासी मज़दूरों के कोरोना टेस्ट की ज़िम्मेदारी राज्य सरकारों को दी गयी है. गृह मंत्रालय की मंज़ूरी के बाद मज़दूरों को उनके गृह राज्य पहुंचने के लिए विशेष ट्रेनें चलवाई जा रही हैं.   

देशव्यापी लॉकडाउन के बीच तमाम राज्यों ने भी महानगरों में फंसे अपने राज्य के हज़ारों प्रवासी मज़दूरों के लिए विशेष ट्रेन चलवाई हैं.