पूर्व मॉडल और एक्टर मिलिंद सोमन अपनी फ़िटनेस के लिए जाने जाते हैं. 54 साल की उम्र में भी वो फ़िटनेस के मामले में जवानों को भी पछाड़ रहे हैं. पर इन दिनों अपनी फ़िटनेस को लेकर नहीं बल्कि आरएसएस को लेकर सुर्खियों में हैं और सोशल मीडिया पर कुछ लोग उन्हें ट्रोल कर रहे हैं. चलिए जानते हैं क्या है पूरा मामला.

दरअसल, मिलिंद सोमन ने हाल ही में अपनी एक बुक 'मेड इन इंडिया' लॉन्च की है. इस किताब में उन्होंने अपनी पर्सनल लाइफ़ से जुड़े कई क़िस्से शेयर किए हैं. इनमें से एक क़िस्सा आरएसएस से जुड़ा है. मिलिंद कि इस बुक के अनुसार, उन्होंने 10 साल की उम्र में अपने डैड के कहने पर आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ) जॉइन की थी.

Milind Soman
Source: news18

अपने बचपन को याद करते हुए उन्होंने कहा- ‘मैंने आरएसएस जॉइन किया था क्योंकि पापा को अनुशासन में काफ़ी ज़्यादा यक़ीन था. पर आरएसएस जॉइन करने के बाद मुझे गुस्सा आता था. क्योंकि तब मैं सोचता था कि मुझ जैसे टैलेंटेड लड़के को पापा ने कहां भेज दिया.'

Milind Soman
Source: outlookindia

मिलिंद ने ये भी बताया कि वो कभी आरएसएस का हिस्सा बनना ही नहीं चाहते थे. मगर यहां पर मिलिंद को बहुत कुछ सीखने को मिला. मिलिंद ने कहा-’वहां जाने के बाद मेरी आदत बन गई रोज़ शाम को टहलने की. मैं ख़ाकी पैंट में मार्च करता था. ऐसे ऐसे संस्कृत शब्द पढ़ता था जिसका मतलब भी मुझे नहीं पता था. यहीं मैंने अपने तीन बेस्ट फ़्रेंड बनाएं जो आज भी मेरे साथ हैं.'

'लेकिन जब आज मीडिया में आरएसएस के सांप्रदायिक होने की ख़बरें देखता हूं तो बहुत बुरा लगता है. मैंने जो शाखा देखी है वो बिल्कुल ऐसी नहीं थी. आज हो सकता है इस संस्था का राजनीतिकरण हो गया हो पर पहले ऐसा नहीं था.'

इस बात पर सोशल मीडिया पर लोगों ने मिलिंद को ट्रोल करने लगा और वो ट्विटर पर ट्रेंड करने लगे.

ख़ुद को 54 साल की उम्र में बचपन की एक स्टोरी के लिए ट्रेंड होता देख उन्होंने इस पर चुटकी भी ली. उन्होंने ट्विट करते हुए लिखा-'उस वक़्त मैं स्विमिंग भी करता था, इसको ट्रेंड करो.'

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.