गुजरात के एमएलए बलराम थवानी ने एक महिला की सड़क पर लात जड़ दी. महिला दर्द से चिल्लाती रही और एक अन्य पुरुष ने उसे बचाया.

NDTV की रिपोर्ट के अनुसार, ये घटना रविवार को हुई. एनसीपी लीडर नीतू तेजवानी नारोदा में पानी के सप्लाई को लेकर विरोध कर रही थीं.

घटनास्थल पर मौजूद कुछ लोगों का मानना है कि महिला के साथ पहले ही एक पुरुष ग़लत बर्ताव कर रहा था. बाद में दफ़्तर से निकलर बलराम ने भी उसे लातें जड़ दीं.


घटना का वीडियो आपको विचलित कर सकता है.

ANI से बातचीत में नीतू ने कहा,


'मैं पानी की समस्या पर बात करने के लिए बलराम के पास गई थी. कुछ बिना कहे वो बाहर निकले और मुझे मारने-पीटने लगे. जब मेरे पति ने ये देखा तो वो मुझे बचाने आए. ये देखकर बलराम के समर्थक आकर मेरे पति को लाठियों से पीटने लगे. मेरे साथ विरोध कर रही महिलाओं के साथ भी मार-पीट की गई.'

इस घटना पर बलराम बलराम थवानी ने ये कहा,


'मैं भावनाओं में बह गया, मैं मानता हूं मुझसे ग़लती हुई है, मैंने जानबूझकर कुछ नहीं किया. मैं 22 साल से राजनीति में हूं और ऐसा कभी नहीं हुआ. मैं उनसे माफ़ी मागूंगा.'

ANI के ट्वीट के मुताबिक, बलराम ने नीतू से माफ़ी मांग ली है और सारी ग़लतफ़हमियां दूर कर ली है. साथ ही बलराम ने नीतू की मदद करने का आश्वासन भी दिया है.

इस पूरे मामले पर आपके विचार कमेंट बॉक्स में दीजिए