शिखर धवन, अंगूठा टूटने की वजह से वर्ल्ड कप से बाहर हो गए हैं. कल शिखर धवन ने ट्विटर पर एक भावुक वीडियो डाला.

वीडियो पर कई फ़ैन्स ने उनके जल्दी ठीक होने और टीम में वापस लौटने की कामना की. शिखर धवन के ट्वीट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट किया.

'प्रिय शिखर धवन, इसमें कोई शक़ नहीं कि पिच को आपकी कमी खलेगी पर मैं उम्मीद करता हूं कि आप जल्द से जल्द ठीक हो जाएं और फ़ील्ड पर वापस लौटकर देश की कई जीतों में योगदान दें.'

प्रधानमंत्री के इस ट्वीट पर कई लोग आक्रोषित हैं. PM की निंदा करते हुए कहा जा रहा है कि मुज़फ्फ़रपुर में 'चमकी बुखार' से 100 से ज़्यादा बच्चों की मृत्यु हो गई और उन्होंने कुछ नहीं लिखा. ऐसे कई बड़ों मुद्दों पर प्रधानमंत्री जी ने चुप रहना ठीक समझा. प्रधानमंत्री के इस ट्वीट पर ट्विटर की प्रतिक्रिया-

बहुत से लोग ये कहेंगे कि ट्वीट करने से कुछ नहीं होता और मोदी जी ने मदद भेज दी होगी और स्वास्थ्य मंत्री तो गए ही थे पर PM होने के नाते मोदी का ट्वीट मायने रखता है. जब वो शिखर धवन के ज़ख़्मी होने पर ट्वीट कर सकते हैं, तो क्या उन बच्चों के लिए कुछ शब्द नहीं कह सकते थे?