कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए देशभर में लॉकडाउन की अवधि को 3 मई तक बढ़ा दिया गया है. पिछले महीने लॉकडाउन के लागू होने के बाद से दिहाड़ी मज़दूर बेरोज़गार हो गए थे. उनके सामने रोज़ी-रोटी की समस्या मुंब बाए खड़ी थी. ऐसे लोगों की मदद के लिए आम से लेकर ख़ास आदमी सभी आगे आए हैं. कोई उन्हें भोजन दे रहा है तो कोई रहने का आसरा. मुंबई कि एक मस्जिद भी रोज़ाना ऐसे ही 800 मज़दूरों को खाना खिला रही है.

Mosque in Mumbai feeds labourers during lockdown
Source: news18

ये मस्जिद मुंबई के साकीनाका इलाके में हैं. इसमें लॉकडाउन के चलते बेरोज़गार हुए लगभग 800 लोगों के लिए रोज़ खाना बनता है. खैरानी रोड पर स्थित जामा मस्जिद अहले हदीस नाम की इस मस्जिद के लोग आस-पास के इलाके में ज़रूरतमंदों को चावल और दाल भी राशन के रूप में दे रहे हैं.

इस संदर्भ मेंबातकरते हुए मस्जिद के मौलाना आतिफ़ सनबअली ने कहा-'Covid-19 की तरह ही भूख भी एक गंभीर समस्या है. ये किसी का धर्म नहीं देखती, बल्कि सभी को प्रभावित करती है. हमारा मक़सद है कोई भी भूखा न सोए.'

Mosque in Mumbai feeds labourers during lockdown
Source: jagran

उन्होंने ये भी बताया कि खाना बनाते समय स्वच्छता का पूरा ध्यान रखा जाता है और इसे बांटते समय भी सोशल डिस्टेंसिंग का ख़्याल रखा जाता है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि देश में कोरोना वायरस के मरीज़ों की संख्या 11,439 तक पहुंच गई है. इसी के चलते पीएम मोदी ने पूरे देश में लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने की घोषणा की है.

Newsके और आर्टिकल पढ़ने के लियेScoopWhoop Hindiपर क्लिक करें.