साइकिल किसी के लिए कसरत का साधन है, तो किसी के लिए आने-जाने का. ये अधिकतर लोहे या फिर स्टील की बनी होती हैं. लेकिन आज हम आपको ऐसी साइकिल के बारे में बताएंगे, जो बांस से बनी है. जी हां, बांस से और इसे विदेश में नहीं अपने ही देश में इसे बनाया जा रहा है.

बांस से बनी साइकिल बनाने वाली कंपनी का नाम Bamboochi है. इसे मुंबई के शशि शंकर बनाते हैं, जो एयरफ़ोर्स के रिटायर्ड कर्मचारी हैं. बांस से बनी ये साइकिलें लोहे और स्टील से बनी साइकिलों के मुकाबले में कहीं से भी कम नहीं हैं.

ये तो उनसे ज़्यादा आरामदायक और हल्की भी हैं. ये साइकिल इको-फ़्रेंडली भी हैं. इन्हें शशि शंकर अपने फ़ार्म हाउस में बनाते हैं. इसके लिए वो ख़ुद ही बांस उगाकर उनसे साइकिल तैयार करते हैं.

रोड पर चलने के दौरान बांस में मौजूद Cellulose के चलते इस साइकिल में कम झटके महसूस होते हैं. ये ऊंची-नीची सड़कों के कारण उठने वाले झटकों को कम करने का काम करता है.

इसके फ़्रेम तकरीबन 2 किलो के होते हैं, जिन्हें कार्बन के ज़रिये जोड़ा जाता है. इससे इनकी क़ीमत भी कम हो जाती है. बांस की एक साइकिल बनाने में 4-6 महीने का वक़्त लगता है. सिंगल स्पीड से लेकर गियर वाली साइकिल, हर तरह की वैराइटी भी यहां उपलब्ध है.

कंपनी का दावा है कि ये 20-25 साल तक चल सकती हैं. इसके साथ ही ये इन साइकिलों पर 3 साल की गारंटी भी देती हैं. आप यहां क्लिक कर इन साइकिलों को ख़रीद सकते हैं.