ज़रा सोचिये कि आप अच्छे भले अपने परिवार के साथ ख़ुशियां मना रहे हों. तभी अचानक से आपको WhatsApp पर ख़ुद की मौत की ख़बर मिले तो कैसा महसूस होगा?

जी हां, मुंबई के एक शख़्स के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है. रवींद्र दुसांज पिछले तीन दिनों से काफ़ी परेशान हैं. परेशान इसलिए हैं क्योंकि किसी ने WhatsApp ग्रुप पर उनकी मौत की अफ़वाह फैला दी, जिस कारण वो शुभचिंतकों के सांत्वना भरे मैसेज और कॉल आने से परेशान हैं.

malicious hoax about his death on WhatsApp
Source: metro

पिछले तीन दिनों में रवींद्र 400 से ज़्यादा शोक भरे मैसेज प्राप्त कर चुके हैं. उनके फ़ोन पर शुभचिंतकों के कॉल और मैसेज का आना थम ही नहीं रहा है. वो ख़ुद लोगों को अपने जीवित होने की ख़बर दे देकर परेशान हो चुके हैं.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक़, 43 वर्षीय दहिसर निवासी रवींद्र दुसांज लगातार कॉल और मैसेज से इतने परेशान हुए कि पुलिस के पास जा पहुंचे.

Ravindra Dusange a 43-year-old Dahisar resident
Source: gettyimages

रवींद्र दुसांज ने कहा कि 'पिछले 3 दिन मेरे लिए भयानक रहे. मैं लोगों को ये समझाते हुए थक गया हूं कि मैं जीवित हूं और स्वस्थ्य हूं. बावजूद इसके अब भी मेरी मौत को लेकर WhatsApp ग्रुप पर मैसेज फ़ैलाए जा रहे हैं. रविवार को जब मैं अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ मलाड स्थित अपनी ससुराल में था, तभी से मुझे शोक भरे मैसेज और फ़ोन कॉल आ रहे हैं.

malicious hoax about his death on WhatsApp group
Source: thenextweb

रविवार शाम करीब 5 बजे जब मैं ससुराल में था तो मेरे फ़ोन पर मेरे एक दोस्त की कई कॉल आया हुआ था, जिन्हें मैं देख नहीं पाया था. जब मैंने उसे कॉल बैक किया तो वो हैरानी से बोला कि तू ज़िंदा है? तब उसी ने बताया कि WhatsApp ग्रुप पर मेरी मौत की ख़बर फैलाई जा रही है.

malicious hoax about his death on WhatsApp
Source: livemint

दरअसल, किसी ने फ़ेसबुक से मेरी एक तस्वीर लेकर उसके साथ एक शोक संदेश लिखकर उसे WhatsApp पर पोस्ट कर दिया था. दहिसर पुलिस ने रवींद्र दुसांज की लिखित शिकायत स्वीकार कर ली है और पोस्ट की जांच कर रही है.

दहिसर पुलिस ने रवींद्र दुसांज की लिखित शिकायत स्वीकार कर ली है और पोस्ट की जांच कर रही है.