सुशांत सिंह मौत केस में पुलिस के साथ-साथ रिपब्लिक टीवी ने भी अहम रोल निभाया है. इस मुद्दे को अर्णब गोवास्वामी ने ऐसा उठाया कि चैनल छठे पायदान से उठकर पहले पायदान पर आ गया. हांलाकि, अब टीआरपी में आई इस बड़ी हेर-फेर को लेकर अर्णब गोवास्वामी से पूछताछ हो सकती है.

Arnab
Source: outlookindia

दरअसल, मुंबई पुलिस ने प्रेस क्रॉन्फ़्रेंस के दौरान रिपब्लिक-टीवी सहित तीन चैनलों पर टीआरपी की धोखाधड़ी का आरोप लगाया है. पुलिस का कहना है कि वो मामले की जांच कर रही है. टीआरपी रेटिंग के लिये पुलिस द्वारा 2,000 बैरोमीटर भी लगाये गये हैं. BARC ने इन बैरोमीटर की निगरानी के लिए गोपनीय अनुबंध दिया है. 

Mumbai Police
Source: indiatoday

पुलिस का कहना है कि टीआरपी बढ़ाने के लिये चैनल द्वारा लोगों को पैसे दिये गये. इस मामले में डायरेक्ट प्रमोटर से पूछताछ की जाएगी. इसके साथ ही चैनल के खाते भी सील किये जा सकते हैं. क्राइम ब्रांच के CIU के एसीपी शशांक जांच का नेतृत्व कर रहे हैं और डीसीपी और जेसीपी जांच की निगरानी कर रहे हैं. 

TRP
Source: medium

प्रेस से बातचीत करते हुए कमिश्नर परम बीर सिंह ने कहा कि मामले में एक शख़्स को 20 लाख रुपये के साथ गिरफ़्तार किया गया है. इसके साथ ही उसके बैंक लॉकर में 8.5 लाख रुपये भी पाये गये हैं.