कोरोना महामारी से बचने के लिए लोग घर से बहुत कम ही बाहर निकल रहे हैं. इसलिए वो ऑनलाइन शॉपिंग की मदद से घर का सामान ऑर्डर कर रहे हैं. मुश्किल की इस घड़ी में भी साइबर अपराधी फ़्रॉड करने से बाज़ नहीं आ रहे हैं. मुंबई में एक टीचर के साथ भी ऐसी ही ठगी का एक मामला सामने आया है. इस टीचर ने ऑनलाइन सामान ऑर्डर कर उसे कैंसिल कर दिया. रिफ़ंड के नाम पर उसके साथ 1 लाख रुपये का फ़्रॉड हो गया.

दरअसल, समय के हिसाब से अपराधियों ने भी ख़ुद को ढाल लिया है. इसलिए मुंबई की इस टीचर के साथ ये धोखा हो गया. हुआ यूं के मुंबई की रहने वाली सीमा सेठ ने 1,716 रुपये का ऑनलाइन किराने का सामान ऑर्डर किया था. ये तब की बात है जब मुंबई में निसर्ग तूफ़ान आया था.

Source: deccanchronicle

इसलिए उन्होंने ऑर्डर कैंसिल कर दिया और रिफ़ंड के लिए अप्लाई किया. रिफ़ंड के लिए वहां के कस्टमर केयर से कॉल आया उसने कहा कि इसमें तूफ़ान के कारण कुछ समय लगेगा. इसलिए वो एक ऐप इंस्टॉल कर लें. ये एक मिरर स्क्रीनिंग ऐप थी. इसके इंस्टॉल होते ही, जो भी उन्होंने पासवर्ड आदि अपने फ़ोन में डाले वो उस साइबर अपराधी को मिल गए.

Source: newindianexpress

इस तरह उनके खाते से 1 लाख रुपये साफ़ हो गए. ये कंपनी के कस्टमर केयर का नंबर उन्हें इंटरनेट से मिला था. खाते से पैसे उड़ने के बाद उन्होंने उस शख़्स को कॉल किया तो उसने 23 हज़ार रुपये रिफ़ंड कर दिए. मगर बाकी का पैसा उन्हें नहीं मिला. इसकी शिकायत उन्होंने वर्ली के साइबर क्राइम थाने में की है. पुलिस फ़िलहाल इस मामले की जांच में जुटी है.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.