Symphony Orchestra यूक्रेन रेडियो और नेशनल टीवी के लिए काम करता है. वहां पर हाल ही में लॉकडाउन में कुछ ढील मिलने के बाद इस ऑर्केस्ट्रा का पहला लाइव परफ़ॉर्मेंस हुआ था. इस दौरान सभी म्यूज़िशियन्स ने चेहरे पर मास्क लगाए थे और सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखा गया था.

इस ऑर्केस्ट्रा की स्थापना 1929 में हुई थी. लॉकडाउन के बाद इसके पहले शो को यूक्रेन रेडियो-टीवी और कुछ ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर लाइव देखा गया था. कोरोना वायरस के चलते यूक्रेन में लगे लॉकडाउन के बाद सभी तरह के म्यूज़िकल शो को बैन कर दिया गया था. 

Musicians of the Ukrainian orchestra wore masks
Source: newsincyprus

इस दौरान सभी संगीतकारों ने अपने सूट से मैचिंग मास्क पहना हुआ था. यही नहीं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए उनके म्यूज़िक स्टैंड भी दूर-दूर लगाए गए थे. अमूमन सभी म्यूज़िशियन एक दूसरे का स्टैंड शेयर करते हैं और इससे उनकी तालमेल भी सभी रहती है.

Musicians of the Ukrainian orchestra wore masks

इसके डायरेक्टर Volodymyr Sheyko ने बताया कि सभी म्यूज़िशियन्स को इसकी वजह से काफ़ी दिक्कतें हुईं. उन्हें एक दूसरे का नैतिक समर्थन नहीं मिला, इसके चलते कई बार उनकी धुन भी बिगड़ गई. यही नहीं दर्शकों का भी उत्साह कम था, जिससे इनकी परफॉर्मेंस वैसी नहीं रही जैसे पहले हुआ करती थी.

Musicians of the Ukrainian orchestra wore masks
Source: yenisafak

उन्होंने ये भी बताया कि लॉकडाउन के कारण सभी म्यूज़िशियन्स का काम बंद है. कई प्राइवेट बैंड्स तो सिर्फ़ शो की टिकटों की बिक्री पर ही निर्भर थे. उनके सामने आर्थिक संकट आ पसरा है. सभी को देश की सरकार स्पॉन्सर नहीं करती. इस तरह ये स्थिति उनके लिए बहुत ही भयावह है. ये न सिर्फ़ उनका घाटा है बल्कि ये पूरे देश की हानि है. क्योंकि कोई भी देश बिना संस्कृति के देश नहीं होता.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.