पिछले दो साल से पूरी दुनिया डर से साए में जी रही है. वजह है कोरोना वायरस. लाखों लोगों को मारने वाली इस सदी की सबसे बड़ी महामारी. करोड़ों लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. कुछ तो एक से ज़्यादा बार भी हुए. मगर तुर्की के रहने वाले Muzaffar Kayasan एक-दो नहीं, बल्कि अब तक 78 बार कोविड पॉज़िटिव पाए गए हैं. 

Muzaffar Kayasan
Source: nypost

ये भी पढ़ें: क्या है कोरोना वायरस का Omicron Variant? जानिए क्यों ये अन्य वैरिएंट से ज़्यादा ख़तरनाक है

पीछा नहीं छोड़ रहा कोरोना 

जी हां, 56 वर्षीय मुज़फ़्फ़र ने अनचाहे ही सबसे ज़्यादा बार कोरोना संक्रमित पाए जाने का रिकॉर्ड बना लिया है. वो पिछले 14 महीने में 78 बार कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं. डॉक्टर्स का कहना है कि मुज़फ़्फ़र ने तुर्की में सबसे ज़्यादा दिनों तक संक्रमित रहने का रिकॉर्ड बनाया है.

Covid
Source: scmp

एसिबैडेम अस्पताल में संक्रामक रोगों और क्लिनिकल माइक्रोबायोलॉजी के डॉक्टर कैगरी बुके ने कहा, 'ऐसा कोई दूसरा मरीज़ अब तक सामने नहीं आया, जो 441 दिनों से ज़्यादा समय से कोविड पॉज़िटिव पाया जा रहा हो.'

इतने लंबे समय से बार-बार कोविड पॉज़िटिव पाए जाने के कारण मुजफ़्फ़र का बाहरी दुनिया से रिश्ता लगभग ख़त्म सा ही हो गया है. वो पिछले 14 महीने में 9 महीने हॉस्पिटल और पिछले 5 महीने से अपने घर पर अकेले रह रहे हैं. परिवार वालों से भी कभी-कभी ही उनकी मुलाक़ात हो पाती है.

corona
Source: toi

आख़िर क्यों बार-बार संक्रमित हो रहे मुजफ़्फ़र?

ये सवाल उठना लाज़मी है कि आख़िर क्यों मुजफ़्फ़र बार-बार कोविड पॉज़िटिव पाए जा रहे हैं. दरअसल, इसके पीछे वजह है 'ल्युकेमिया'. ये एक प्रकार का ब्लड कैंसर होता है, जिसमें शरीर में सफ़ेद रक्त कोशिकाओं (WBC) की संख्या ज़्यादा हो जाती है. 

corona positive
Source: keralakaumudi

डॉक्टर्स का कहना है कि कैंसर की वजह से उनका इम्युन सिस्टम कमज़ोर पड़ गया है. इसलिए वो बार-बार संक्रमित हो जाते हैं. नवंबर 2020 से अब तक वो कई बार अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं. बताया गया है कि उनका केस अब तक कोविड संक्रमण का सबसे लंबा केस है. डॉक्टर लगातार मुजफ़्फ़र पर नज़र बनाए हुए, ताकि म्युटेटेड वैरिएंट बनने से रोक जा सके. 

turkey
Source: toi

वो फ़िलहाल दवाइयों के भरोसे ही ज़िंदा हैं. वैक्सीन भी नहीं ले सकते, क्योंकि तुर्की के गाइडलाइन्स के अनुसार कोई मरीज़ पूरी तरह से ठीक होने के बाद ही कोविड वैक्सीन ले सकता है. हालांकि, इस सबके बावजूद मुजफ़्फ़र के जोश में कोई कमी नहीं है. हाल ही में जब उनका पीसीआर टेस्ट फिर से पॉज़िटिव आया तो उन्होंने मज़ाकिया लहज़े में कहा, 'लगता है ये कोरोना का फ़ीमेल वर्ज़न है और वो मुझ से ऑब्सेस्ड हो गई है.'