भारत का एक और पड़ोसी मुल्क, सेना शासन की भेंट चढ़ने वाला है. म्यांमार की सेना ने तख़्तापलट करते हुए कंट्रोल अपने हाथ में ले लिया है. इसके अलावा 1 साल के लिए आपातकाल भी घोषित कर दिया है.

Source: ndtv

बताया जा रहा है कि सरकार और सेना के बीच सत्ता को लेकर काफ़ी दिनों से तनाव बना हुआ था. सेना ने देश के राष्ट्रपति समेत कई नेताओं को हिरासत में ले लिया है. म्यांमार की चर्चित नेता 'आंग सा सू' को भी जेल में बंद कर दिया है और सेना प्रमुख को कार्यकारी राष्ट्रपति चुना गया है.

Source: bhaskar

इस ख़बर के बाद अमेरिका ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए म्यांमार की मदद करने की बात कही है और दोषियों पर करवाई की करने बात भी कही है. इसके साथ ही अमेरिका ने वहां की सेना को आगाह भी किया है कि अगर हालिया चुनाव के रिज़ल्ट के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश की गई या फिर लोकतांत्रिक व्यवस्था को चोट पहुंचाने की कोशिश की गई तो अमेरिका चुप नहीं बैठेगा.

Source: ndtv

भारत की तरफ से अब तक इस पर किसी भी तरह का कोई बयान नहीं आया है. भारत और म्यांमार के संबंध काफी अच्छे हैं, ऐसे में जल्द ही हमें भारत की तरफ से कोई क़दम उठता ज़रूर दिखेगा.