अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी पहली भारत यात्रा के लिए 24 फ़रवरी को पत्नी मेलानिया ट्रंप के साथ दिल्ली पहुंचेंगे. दो दिन के इस दौरे के दौरान ट्रंप गुजरात के अहमदाबाद स्थित नवनिर्मित मोटेरा स्टेडियम में पीएम मोदी के साथ एक सभा को सम्बोधित करेंगे.

Source: indiatoday

25 फ़रवरी को मेलानिया ट्रंप दिल्ली के एक सरकारी स्कूल का दौरा करेंगी. इस दौरान वो केजरीवाल सरकार के स्कूल में 'हैप्पीनेस क्लास' का जायज़ा भी लेंगी. पहले तय हुआ था कि मेलानिया का स्वागत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया करेंगे, लेकिन अब इस कार्यक्रम से दोनों के नाम हटा दिए गए हैं.

इस मुद्दे पर 'आम आदमी पार्टी' की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य प्रीति शर्मा मेनन का कहना है कि, भले ही पीएम नरेंद्र मोदी अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को आमंत्रण न दें लेकिन उनका काम बोलता है.

इस पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, 'कुछ मुद्दों पर निम्न स्तर की राजनीति नहीं होनी चाहिए. यदि हम एक-दूसरे के पैर खींचना शुरू करते हैं, तो भारत विवादों में आता है. भारत सरकार अमेरिका को नहीं बोलता है कि किसे आमंत्रित करना है और किसे नहीं'.

वहीं दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने इस मामले को लेकर कहा कि 'फिलहाल सरकार के पास इसकी कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है, न ही इसकी कोई सूचना है.

बताया जा रहा है कि इस विशेष दौरे के दौरान मेलानिया ट्रंप क़रीब 1 घंटे का समय सरकारी स्कूल के बच्चों के साथ बिताएंगी और देखेंगी कि केजरीवाल सरकार का हैप्पीनेस करिकुलम कैसे बच्चों को तनाव और अवसाद से मुक्त कराता है.

Source: jagran

क्या है ये 'हैप्पीनेस क्लास'?

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया की पहल पर साल 2018 में दिल्ली के सभी सरकारी स्कूलों में 'हैप्पीनेस क्लास' की शुरुआत की गयी थी. इसके तहत नर्सरी से आठवीं तक के बच्चों का पहला पीरियड यानि 40 मिनट में हैप्पीनेस पर ध्यान दिया जाता है. हैप्पीनेस करिकुलम के तहत बच्चों को मेडिटेशन कराया जाता है, ज्ञानवर्धक और नैतिकता संबंधित कहानियां सुनाई जाती हैं.

Source: businessinsider

इस क्लास का मक़सद बच्चों के मानसिक तनाव और अवसाद को दूर करना है. इस क्लास में कोई लिखित परीक्षा नहीं होती है. इस दौरान बच्चे के हैप्पीनेस इंडेक्स का मूल्यांकन किया जाता है.