पश्चिम बंगाल का एक गांव इस समय बेहद चर्चा में है. वजह है गांव की ख़ूबसूरत दीवारें, जिन्हें सुंदर बनाने का श्रेय वहां के 250 कलाकारों को जाता है. 'नया गांव' नामक ये गांव मिदनापुर ज़िला में है.  

इस गांव की दीवारों पर आपको पश्चिम बंगाल की पुरानी कलाकृति और संस्कृति देखने को मिल जायेगी. पटुआ समुदाय की संस्कृति को जीवत रखने के लिये 250 कलाकारों ने मिलाकर गांव की दीवारों को एक नया रूप दे डाला. इसके बाद चित्रकारों की कलाकारी पूरे देश के लिये प्रेरणा बन गई है.  

यही नहीं. ख़ूबसूरती के साथ-साथ ये दीवारें समाज को एक गंभीर मैसेज भी दे रही हैं. गांव की दीवारें बाल तस्करी, मदर टेरेसा के जीवन, 9/11 के हमलों और कन्या भ्रूण हत्या जैसे सामाजिक संदेशों से प्रेरित हैं. ये परिचित्र वहां के लोगों के शक्तिशाली विचारों को दर्शाते हैं, जिनकी जितनी तारीफ़ की जाये कम है.