कुछ दिनों पहले भारतीय सेना ने ट्वीट कर बताया था कि उनकी Mountaineering Expedition Team को 'Yeti' के पद्चिह्न मिले थे.

इस पर ट्विटर ने भी जमकर चुटकी ली थी:

Yeti एक Mythical जीव है, जिसका ज़िक्र सबसे पहले 1832 में हुआ था. कहा जाता है कि ये हिमालय, मध्य और पूर्व एशिया में पाया जाता है.


अब इस पूरे मामले पर नेपाल से टिप्पणी आई है. Hindustan Times की रिपोर्ट के मुताबिक, नेपाल के अधिकारियों ने भारतीय सेना के दावे को ग़लत बताया है.

सेना की Mountaineering Expedition Team टीम के साथ जो कुली और नेपाल सेना के Liaison Officers गए थे उन्होंने सेना के दावे को ख़ारिज किया है. उनके मुताबिक ये पद्चिह्न जंगली भालू के हैं.


Hindustan Times से बातचीत करते हुए नेपाल सेना के प्रवक्ता, ब्रिगेडियर जनरल बिज्ञान देव पांडे ने कहा,

भारतीय सेना की टीम ने पद्चिह्न देखे थे और हमारी Liaison Officers की टीम भी उनके साथ थी. हमने उस पद्चिह्न के बारे में आम लोग और कुलियों से बात की, जिन्होंने बताया कि वो जंगली भालू के हैं.

- ब्रिगेडियर जनरल बिज्ञान देव पांडे

इस पर भारतीय सेना की कोई टिप्पणी नहीं आई है.