कोरोना वायरस पहले ही दुनियाभर में तबाही मचा चुका है. लेकिन अब ब्रिटेन में इस महामारी के नए वैरिएंट (प्रकार) के मिलने के बाद यूरोप समेत दुनिया के दूसरे देशों में हड़कंप मचा हुआ है. इस वायरस को VUI-202012/01 कहा जा रहा है.

Source: france24

बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन लंदन और दक्षिण-पूर्वी इंग्लैंड में तेज़ी से फैल रहा है. माना जा रहा है कि ये वैरिएंट पहले वाले वायरस के मुक़ाबले 70 फ़ीसदी ज़्यादा संक्रामक है. इसी के चलते ब्रिटेन में सरकार को सख्त पाबंदियों के साथ चौथे टियर का लॉकडाउन लगाना पड़ा है,

वहीं, एहतियात के तौर पर कई देशों ने ब्रिटेन से उड़ानों पर रोक लगा दी है. भारत में भी यूके से होकर आने-जाने वाली सभी फ्लाइट्स को 31 दिसंबर तक बंद कर दिया है.

नया वैरिएंट क्यों है इतना ख़तरनाक?

Source: nbcnews

ब्रिटेन में मिला वायरस का नया स्ट्रेन अब तक के स्ट्रेन की तुलना में 70 फ़ीसदी ज़्यादा संक्रामक है. दरअसल, पहली बार सितंबर में इसका पता चला था. नवंबर में लंदन में लगभग एक चौथाई मामले नए वैरिएंट से जुड़े थे, जो दिसंबर के मध्य में लगभग दो-तिहाई हो गए थे. यही इससे डर की सबसे बड़ी वजह बताई जा रही है. 

इसके अलावा इस बार वायरस के स्पाइक प्रोटीन में बदलाव (म्यूटेशन) देखा गया है. इससे कोरोना वायरस की तैयार हो चुकी वैक्सीन पर भी सवालिया निशान लग गया है.

Source: dnaindia

शोधकर्ताओं का ये भी कहना है कि नया वैरिएंट पहले की तुलना में तेज़ी से और अधिक गंभीर रूप से प्रतिरक्षा प्रणाली पर हमला कर सकता है. हालांकि अभी वायरस के ज़्यादा गंभीर लक्षण या वैक्सीन पर असरदार होने को लेकर कुछ भी पुख़्ता तौर पर नहीं कहा जा सकता है. 

अन्य देश भी आ रहे चपेट में

Source: indianexpress

माना जा रहा है कि या तो ये नया वायरस ब्रिटेन में किसी मरीज़ में उभरा है या फिर किसी ऐसे देश से आया है, जहां कोरोना वायरस म्यूटेशन पर सही तरह से निगरानी नहीं रखी गई. 

ये वैरिएंट उत्तरी आयरलैंड को छोड़कर पूरे यूके में पाया गया है, लेकिन लंदन, दक्षिण पूर्व और पूर्वी इंग्लैंड में इसका असर ज़्यादा दिखाई दे रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, इटली, डेनमार्क, ऑस्ट्रेलिया और नीदरलैंड्स में भी केस पाए गए हैं, जिनके ब्रिटेन से आने की आशंका जताई गई है. दक्षिण अफ्रीका में भी मिलती जुलती स्ट्रेन मिलने की बात सामने आ रही है.

कई देशों ने ब्रिटेन से उड़ानों पर लगाई रोक

Source: traveldailymedia

कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बाद पूरी दुनिया में डर बैठ गया है. कनाडा, आयरलैंड, जर्मनी, फ्रांस, इटली, नीदरलैंड्स, बेल्जियम समेत तक़रीबन 40 से ज़्यादा देशों ने ब्रिटेन से सभी उड़ानें रद्द कर दी हैं. ऐसा करने वाले देशों की तादाद बढ़ती ही जा रही है. 

सऊदी अरब, कुवैत और ओमान ने ज़मीन, हवा और समुद्री सीमाओं को बंद करने के साथ ही सभी वाणिज्यिक उड़ानें पर सात दिन के लिए रोक लगा दी है. भारत ने भी 31 दिसंबर तक ब्रिटेन से विमान सेवा रद्द कर दी है.

भारत में स्थिति

Source: france24

विशेषज्ञों ने बताया कि कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का भारत में अब तक पता नहीं चला है. हालांकि इस पर कड़ी निगाह रखी जा रही है और इसी के तहत ब्रिटेन से विमान सेवा पर 31 दिसंबर तक रोक लगा दी गई है. इसके साथ ही ब्रिटेन और यूरोप से आने वाले सभी यात्रियों को क्वारंटाइन किया जाएगा. 

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के महामारी विज्ञान और संक्रामक रोग विभाग के प्रमुख डॉक्टर समीरन पांडा ने भी कहा, 'हमने अपने किसी भी नमूने में अब तक यूके के स्ट्रेन से संबंधित कुछ नहीं पाया है. पुणे में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) या देश भर में किसी भी प्रयोगशाला में इस म्यूटेशन का कोई सबूत नहीं मिला है.'