दुनियाभर में महिलाओं और लड़कियों के पास आज भी Periods के दौरान सही Sanitary Products नहीं है. 

शुक्र है कि ये हालात कहीं तो बदल रहे हैं. कहीं तो Sanitary Pads को ज़रूरत समझा जाता है. न्यूज़ीलैंड ने सभी स्कूली लड़कियों को मुफ़्त में Sanitary Products देने का फ़ैसला किया है. 

sanitary products
Source: feweek

Periods के दिनों में Pads या Tampons न ख़रीद पाने की वज़ह से कई लड़कियां स्कूल नहीं आती हैं. इस समस्या से लड़ने के लिए प्राइम मिनिस्टर Jacinda Ardern ने सभी स्कूल जाने वाली लड़कियों को मुफ़्त में sanitary products देने का निर्णय किया है. 

पिछले ही महीने न्यूजीलैंड में Period Poverty ख़त्म करने की योजना का एलान किया गया था. ये $ 1.7 मिलियन की स्कीम उसी के अंतर्गत आती है. 

jacinda ardern
Source: soundhealthandlastingwealth

15 Waikato स्कूल, जिनको इस समय सबसे ज़्यादा Pads की ज़रूरत है उनसे आने वाले जुलाई के महीने से शुरुआत की जाएगी. 2021 तक सभी स्कूलों में मुफ़्त Pads का इंतज़ाम किया जाएगा. 

सरकार द्वारा लिए इस क़दम के बारे में बात करते हुए, प्राइम मिनिस्टर Jacinda कहती हैं, "9 से 18 वर्ष की उम्र की लगभग 95,000 लड़कियां Sanitary Products न ख़रीद पाने की वजह से Periods के दिनों में घर पर ही रहती हैं. ऐसे में इनको मुफ़्त में उपलब्ध कराकर, हम इन लड़कियों की पढ़ाई का समर्थन करते हैं." 

इसके साथ ही वो इस बात पर भी ज़ोर देती हैं कि उनका ये क़दम बाल ग़रीबी और उनसे जुड़ी कठिनाइयों को भी कम करेगा. 

pads and tampons
Source: hudabeauty

आंकड़ों के अनुसार, कई देशों में आधे से ज़्यादा महिलाएं और लड़कियां Periods के वक़्त sanitary products न ख़रीद पाने वजह से राख, पुराने कपड़े, कागज़ और घास जैसी चीज़ों का इस्तेमाल करती हैं. इसकी वज़ह से उन्हें जानलेवा बीमारी भी हो सकती है. 

2019 में किए गए एक सर्वे के अनुसार, हर 12 स्कूल जाने वाली लड़की में से एक सही Sanitary Product न ख़रीद पाने की वजह से स्कूल नहीं आती है. जिसकी वजह से इन लड़कियों की शिक्षा पर भी बहुत बड़ा असर पड़ता है. 

ऐसे में न्यूज़ीलैंड का ये फ़ैसला बेहद सराहनीय है. ट्विटर पर भी लोग इस पहल की तारीफ़ करते नहीं थक रहे हैं.