आपने नेताओं को पुलिस पर रौब झाड़ते देखा होगा. आज़म खान ने रामपुर में अपनी चुनावी रैली के दौरान कहा था, 'कलेक्टर से जूते साफ़ करवाऊंगा':

फ़िल्मों में भी यही दिखाते हैं कि पुलिस को सांसद जेब में लेकर घूमते हैं. असल ज़िन्दगी में अगर कोई पुलिसवाला नेताओं के कुकर्म का पर्दाफ़ाश करने की कोशिश करे, तो उसका ट्रांसफ़र कर दिया जाता है.

इन सबसे अलग एक बहुत ही ख़ूबसूरत तस्वीर इंटरनेट पर शेयर की जा रही है.

Source: The Week

आंध्र प्रदेश के अनंतपुर के हिन्दूपुर से पूर्व सर्कल इंस्पेक्टर Gorantla Madhav सांसद चुने गए हैं. YSR कांग्रेस पार्टी की टिकट पर Gorantla ने चुनाव लड़ा और बड़े मार्जिन से जीते.


Gorantla ने अन्य अफ़सरों के बीच अपने बॉस, CID के डिप्टी एसपी महबूब बाशा को सैल्यूट किया.

इस तस्वीर पर ट्विटर के कुछ लोगों ने 'Protocol' का हवाला देते हुए सवाल खड़े किए. सफ़ाई देते हुए Gorantla ने बताया कि ये तस्वीर मतगणना के दिन की है.

मैंने डीएसपी को सैल्यूट किया और फिर उन्होंने भी जवाब में सैल्यूट किया. हम दोनों एक-दूसरे का सम्मान करते हैं.

- Gorantla Madhav

अनंतपुर के टीडीपी लीडर जे.सी.दिवाकर.रेड्डी ने एक बार पुलिस वालों को 'हिजड़ा' कह दिया था. पुलिस, Tadipatri के Chinnapolamada गांव में हुई हिंसा पर काबू नहीं पा सकी थी और रेड्डी ने पुलिसवालों को बुरा-भला कहा था.


इसके जवाब में Gorantla Madhav ने कहा था कि अगर सत्ता में मौजूद पार्टी पुलिस को बुरा-भला कहेगी, तो पुलिस भी चुप नहीं बैठेगी. उसने पुलिस फ़ोर्स का अनादार करने वालों की जीभ काटने की भी बात कह दी थी.

इस घटना के बाद Gorantla ने पुलिस की नौकरी छोड़ सत्ता में आने का निर्णय लिया था. Gorantla अपने स्वभाव की वजह से स्थानीय लोगों के बीच काफ़ी मशहूर हैं.