बिहार के मुख्यमंत्री, नीतीश कुमार ने देशभर ने शराबबंदी की मांग की है. नीतीश कुमार ने कहा है कि ये महात्मा गांधी की इच्छा थी.


News 18 की रिपोर्ट के मुताबिक़, 'Liquor Free India' कन्वेशन में बोलते हुए कुमार ने कहा कि महात्मा गांधी भी यही चाहते थे क्योंकि शराब जीवन बर्बाद कर देती है. कुमार ने इस बात पर ज़ोर दिया कि सिर्फ़ चुनिंदा राज्यों में ही नहीं, देशभर में शराबबंदी होनी चाहिए.

Source: Scroll

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार शराबबंदी मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर ने की थी पर वो पूरी तरह सफ़ल नहीं हो पाई थी. कुमार ने ये भी बताया कि वो 2011 से शराबबंदी की प्लानिंग कर रहे थे पर अमल में लाने में कुछ समय लग गया. 2016 से बिहार में शराब बंद है.

Source: HIndustan Times

India Today की रिपोर्ट के मुताबिक़, नीतीश कुमार ने ये भी कहा कि शराबबंदी के बावजूद प्रदेश में टूरिस्ट्स की संख्या में इज़ाफ़ा हुआ है. पिछले 4 सालों में टूरिस्ट्स की संख्या 21% बढ़ी है.


टूरिस्ट डिपार्टमेंट की संख्या ने काफ़ी लोगों को चौंका दिया. बहुत से लोग ऐसा मानते थे कि शराब का टूरिस्ट की संख्या पर सीधे प्रभाव पड़ेगा. आंकड़ों ने इन अनुमानों को ग़लत साबित किया.