21वीं सदी में भी हमारे देश की महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं. दिन हो या रात, घर हो या ऑफ़िस, महिलाएं कहीं भी पूरी तरह से सुरक्षित नहीं हैं. नाइट शिफ़्ट या देर रात तक काम करने वाली 'वर्किंग वूमेन' के लिए तो ये किसी बुरे सपने से भी ज़्यादा डरावना है.

women at night
Source: safetipin

आप भारत का कोई भी राज्य उठा कर देख लीजिये, किसी भी शहर, कस्बे और गांव में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं. ऐसे में पुणे शहर की पुलिस ने 'वर्किंग वूमेन' के लिए एक सराहनीय क़दम उठाया है. 

पुणे पुलिस ने सभी लड़कियों और महिलाओं से अपील की है कि, वो रात को शहर के अंदर यात्रा करने के लिए सरकारी वाहनों का इस्तेमाल करें. चाहें आप 'वर्किंग वूमेन' हो या फिर आपको किसी अन्य काम से रात को यात्रा करनी पड़े. इसके लिए पुलिस ने एक हेल्पलाइन नंबर '1091' भी जारी किया है.

police vehicle
Source: punepolice

पुणे पुलिस ने एक प्रेस रिलीज़ जारी करते हुए कहा, 'पुणे शहर के पुलिस थानों को निर्देश दिया गया है कि वे महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकारी वाहनों की उपलब्धता सुनिश्चित करें. ख़ासकर उन महिलाओं के जो काम के लिए रात में यात्रा करती हैं'. 

safety
Source: indianexpress

यदि आप कैब या ऑटो रिक्शा वाहनों से सफ़र कर रही हैं तब भी आप अपनी सेफ्टी के लिए इस हेल्पलाइन नंबर का इस्तेमाल कर सकती हैं.