नेशनल थर्मल पावर स्टेशन जल्द ही इंदौर के देवगुराड़िया ट्रेंचिंग ग्राउंड में एक ऐसा प्लांट लगाएगी, जिसके ज़रिए वेस्ट को एनर्जी में कन्वर्ट किया जा सकेगा. 

Free Press Journal की रिपोर्ट के अनुसार इंदौर म्युनिसिपल कॉर्पोरेश (आईएमसी) ने MoU साइन किया था. इस MoU के मुताबिक़, इस प्लांट को लगाने में 107 करोड़ रुपये का ख़र्च आएगा.

Source: Krishi Jagran

इस प्लांट को लगाने का पूरा ख़र्च NTPC उठाएगी. इस प्लांट पर काम एक महीने के अंदर शुरू हो जाएगा. वेस्ट को एनर्जी में बदलने वाली मशीनें जल्द ही मंगाई जाएंगी. ऐसे ही प्लांट्स भोपाल, वाराणसी और देवास में भी लगाए जाएंगे.  

एक सिविक बॉडी के अधिकारी ने बताया कि वेस्ट को सेग्रिगेट (अलग) कर के प्रोसेस किया जाएगा. अलग किए गए कूड़े के Combustion Fraction से कोयला बनाया जाएगा, Biodegradable Fraction से मीथेन गैस बनाया जायेगा और बतौर बायो सीएनजी इस्तेमाल किया जाएगा, जो रिसाइकल्ड रेसीड्यू बच जाएगा उसका इस्तेमाल कन्सट्रक्शन के कामों में होगा. 

Source: Deccan Herald

ट्रेंचिंग ग्राउंड पर कूड़े का पहाड़ जमा होता था और अब आईएमसी ने वहां कूड़ा न डालने का निर्णय लिया है. 6 महीने में आईएमसी ने 13 टन लिगेसी वेस्ट हटाया है और 100 एकड़ ज़मीन को कूड़ा मुक्त किया है. इस खाली की गई ज़मीन पर गोल्फ़ ग्राउंड बनाने की योजना थी. इसी ज़मीन के एक हिस्से में सिटी फ़ॉरेस्ट विकसित किया गया और अब एक हिस्से में एनटीपीसी का प्लांट लगाया जाएगा.