लॉकडाउन का चौथा फ़ेज़ शुरु हो गया है, लेकिन इसके बाद भी कोरोना वायरस के मामले हर रोज़ तेज़ी से बढ़ रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक़, बीते 24 घंटे में संक्रमण के 5,242 नए केस सामने आए हैं, जबकि 157 मरीज़ों की मौत हो गई. ये अब तक एक दिन में पॉज़िटिव केसों की सबसे ज़्यादा संख्या है. 

Source: indiatvnews

इस वक़्त तक देश में 96,246 लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. वहीं, 3,039 लोगों की मौत हो चुकी है. क़रीब 30 फ़ीसदी, 37,187 मरीज़ अब तक ठीक हो चुके हैं. फ़िलहाल देश में 56,014 एक्टिव केस हैं. 

राज्यों में तेज़ी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमण- 

-महाराष्ट्र कोरोना वायरस से सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्य बना हुआ है. बीते 24 में घंटे में यहां 2 हज़ार से ज़्यादा कोरोना के नए मामले सामने आए हैं. इसी के साथ महाराष्ट्र पहला ऐसा राज्य बन गया है, जहां एक दिन में 2 हज़ार से ज़्यादा पॉज़िटिव केस मिले हैं. अकेले मुंबई में ही 1,500 संक्रमित मरीज़ मिले हैं. राज्य में कुल संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 33 हज़ार के पार चला गया है, जबकि 1,198 लोगों की अब तक जान गई है. मुंबई में 20 हज़ार से ज़्यादा केस दर्ज हो चुके हैं. 

Source: dnaindia

-गुजरात एक बार दूसरे नंबर पर आ गया है. यहां बीते 24 घंटे में 391 नए संक्रमित मरीज़ सामने आए हैं, जिसके बाद कुल पॉज़िटिव केस बढ़कर 11,380 हो गए हैं. वहीं, 659 लोगों की मौत हो चुकी है. अकेले अहमदाबाद में 8 हज़ार से अधिक केस और 500 से ज़्यादा मौतें हुई हैं. 

-तमिलनाडु में रविवार को 600 से ज़्यादा नए मरीज़ मिले हैं. राज्य में 11,224 लोग कोरोना वायरस का शिकार हो चुके हैं. वहीं, 79 लोगों की मौत हुई है. 

Source: deccanherald

-दिल्ली में रविवार को कोरोना केसों की संख्या में तेज़ी से इज़ाफ़ा देखने को मिला है. यहां 721 पॉज़िटिव मरीज़ मिले हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 10,054 पर पहुंच गई है. वहीं, 160 लोगों की अब तक जान गई है. 

-राजस्थान में 140 नए पॉज़िटिव मरीज़ मिलने के बाद संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 5,342 हो गया है. वहीं, 133 मरीज़ों की मौत हो चुकी है. 

-लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए 54 दिनों से जारी लॉकडाउन को 31 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. हालांकि, ठप पड़ी अर्थव्यवस्था को रफ़्तार देने के लिए ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन में कई रियायतें भी दी गई हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आर्थिक गतिविधियों को तेज़ करने और आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए हाल ही में 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का एलान किया है.