भारत में कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा 3 लाख के पार चला गया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक़, देश में पिछले 24 घंटे में 11,450 नए कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ मिले हैं, वहीं, 386 लोगों की मौत हुई है. ये एक दिन में संक्रमितों का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. महज़ 10 दिन में 1 लाख से ज़्यादा लोग कोरोना संक्रमण का शिकार हुए हैं.

Source: bloombergquint

इस वक़्त देश में 3,09,499 कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ हैं और 8,890 मरीज़ों की अब तक मौत हो चुकी है. हालांकि, कोरोना मरीज़ों का रिकवरी रेट 49 फ़ीसदी से ज़्यादा है. 1,54,231 मरीज़ों का इलाज किया जा चुका है. फ़िलहाल 1,46,356 एक्टिव केसेस के साथ भारत विश्व में 4th नंबर पर है.

राज्यों की स्थिति-

-महाराष्ट्र पहला राज्य है, जहां कोरोना संक्रमण 1 लाख के पार पहुंच गया है. देश के क़रीब 33 फ़ीसदी कोरोना संक्रमित अकेले इसी राज्य में हैं. बीते 24 घंटे में यहां 3,493 पॉज़िटिव केस सामने आए हैं. वहीं, 129 मरीज़ों की मौत हो गई. राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 1,01,141 है, साथ ही 3,717 मरीज़ों की मौत हो चुकी है. अकेले मुंबई में 55 हज़ार से ज़्यादा पॉज़िटिव केस हैं.

Source: dnaindia

-तमिलनाडु दूसरा सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्य है. पिछले 24 घंटे में 1,982 नए कोरोना संक्रमित मरीज़ मिले हैं. इसी के साथ राज्य में अब तक 40,698 लोग इस ख़तरनाक वायरस की चपेट में आ चुके हैं. अकेले चेन्नई में 30 हज़ार के क़रीब लोग संक्रमित हैं.

-शुक्रवार को दिल्ली में अब तक के सबसे ज़्यादा कोरोना संक्रमित मरीज़ मिले हैं. एक दिन में 2 हज़ार से ज़्यादा लोग वायरस की चपेट में आए हैं, जिसके बाद कुल पॉज़िटिव केस बढ़कर 36,824 पर पहुंच गए हैं. वहीं, 1,214 मरीज़ों की अब तक जान जा चुकी है.

Source: reuters

दिल्ली में एक तरफ़ जहां कोरोना संक्रमितों की संख्या में इज़ाफ़ा देखने को मिल रहा है, वहीं दूसरी ओर मरीज़ों का रिकवरी रेट घटा है. 30 मई से 11 जून के बीच के आंकड़ों से पता चलता है कि संक्रमण दर में 21 फ़ीसदी की वृद्धि हुई है, जबकि रिकवरी दर में 8 प्रतिशत की कमी आई है. दिल्ली में 1 जून से 11 जून तक कुल 58,732 जांच की गई, इनमें 14,743 लोगों में संक्रमण पाया गया, जिससे जून में संक्रमण दर 25 फ़ीसदी से ज़्यादा हो गई है.

-गुजरात में शुक्रवार को 495 नए कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ मिले हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 22,562 पहुंच गई है. वहीं, 1,416 मरीज़ों की जान जा चुकी है. महाराष्ट्र के बाद कोरोना से सबसे ज़्यादा मौतें गुजरात में ही हुई हैं.