रील लाइफ़ और रियल लाइफ़ के बीच कितना फ़र्क होता है, इसकी एक त्रासद बानगी उड़ीसा में सामने आई है. आरती समल नाम की एक महिला ने अपने बच्चे को खो दिया क्योंकि उसे ऑपरेट करने वाला डॉक्टर ऑपरेशन थियेटर में नहीं बल्कि फ़ोन पर निर्देशों द्वारा ऑपरेशन करने की कोशिश कर रहा था.

Zeenews

जहां फ़ोन पर डॉक्टर से संपर्क साधने का ये तरीका आमिर खान की फ़िल्म ‘3 इडियट्स’ में कारगर साबित हुआ था वहीं रियल लाइफ़ में इसने एक गंभीर त्रासदी का रूप ले लिया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, डॉ रश्मिकांत पात्रा उस समय अस्पताल में नहीं थे और वहां मौजूद नर्सों ने Caesarean ऑपरेशन करने का फ़ैसला लिया जो बुरी तरह से फ़ेल साबित हुआ क्योंकि इससे न केवल गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हुई बल्कि महिला के अंदरूनी अंगों को भी नुकसान पहुंचा है.

Metro

आरती के पति कलपत्रू समल ने कहा कि ‘जब हमने डॉ रश्मिकांत पात्रा से बात की तो उन्होंने मेरी पत्नी को अस्पताल में भर्ती करने के लिए कहा. पात्रा ने बताया कि वह खुद अस्पताल में नहीं होगा लेकिन उसकी अनुपस्थिति में अस्पताल में मौजूद Nurses से लगातार संपर्क साधे रहेगा. नर्सों ने मेरी पत्नी को ठीक से ऑपरेट नहीं कर पाईं पर वो तब भी नहीं पहुंचा, जब मेरी पत्नी की हालत खराब होने लगी. मुझे नहीं पता ये किसने किया लेकिन हम अपना बच्चा खो चुके हैं और मेरी पत्नी का Uterus भी डैमेज हुआ है.’

वहीं इस ऑपरेशन को अंजाम देने वाली नर्सों का कहना था कि ‘उन्होंने अपनी तरफ़ से 100 प्रतिशत देने की कोशिश की और इस हादसे का ज़िम्मेदार अस्पताल प्रशासन है.’ समल ने डॉक्टर के खिलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कराई है और पुलिस ने लापरवाही का मामला दर्ज कर लिया है.