आजकल का माहौल देख कर किसी से ईमानदारी की उम्मीद नहीं की जा सकती है. पर कई बार ऐसे वाकये हो जाते हैं, जो आपको ये आभास दिलाते हैं कि इंसान में अभी भी अच्छाई बची हुई है. सयाज रविंद्रन ने सोशल मीडिया पर एक ईमानदार Ola ड्राइवर की कहानी शेयर की है. वो ड्राइवर जिसने ईमानदारी की मिसाल पेश करते हुए उन्हें 2.50 लाख रुपये का सामान वापस कर दिया. 

रवींद्रन की पोस्ट के अनुसार, ये घटना बेंगलुरू की है. वो और उनका परिवार कज़न की शादी अटेंड करके रात करीब 3.30 बजे वापस लौट रहा था. इस दौरान उनकी गाड़ी का टायर पंचर हो गया, जिसके बाद उनके ड्राइवर ने उन्हें दूसरी कैब बुक कर घर जाने की सलाह दी. टायर ठीक होने में वक़्त लगता, इसलिये रविंद्रन ने केआर पुरम रेलवे स्टेशन से घर के लिये दूसरी टैक्सी बुक कर ली. 

पोस्ट में रविंद्रन आगे बताते हैं कि वो घर पहुंचने ही वाले थे कि उन्हें पहले वाले ड्राइवर रहमान का फ़ोन आता है. रहमान ने रविंद्रन को फ़ोन पर बताया कि वो एक हैंडबैग गाड़ी में ही भूल गये हैं. इसके बाद रविंद्रन को एहसास हुआ कि उनका लैपटॉप बैग गाड़ी में ही रह गया है, जिसमें 2.5 लाख रुपये की कीमत वाला कुछ महंगा सामान भी था. 

रहमान की नेकी देखते हुए रविंद्रन ने उसे पैसे देने की भी कोशिश की, पर उसने पैसे लेने से मना कर दिया. इसके अलावा रविंद्रन ने Ola से उसे ईनाम देने की गुज़ारिश भी की है. वहीं Ola ने ट्वीट कर रहमान की प्रशंसा की है. रहमान की ईमानदारी वाले पोस्ट पर अब तक 16,000 से अधिक Likes और 3,900 से ज़्यादा शेयर आ चुके हैं. 

वहीं 24 सितबंर को रवींद्रन ने ट्वीट कर ये भी बताया कि रहमान को SGP ग्रुप की तरफ़ से 25 हज़ार रुपये का नकद ईनाम भी दिया गया है. 

रहमान ने अपनी ईमानदारी से ये साबित कर दिया है कि इस दुनिया में अच्छे लोगों की कमी नहीं है. बस ढूंढने पड़ते हैं...