जब से नए वाले व्हीकल एक्ट देश में लागू हुए हैं, कई भारी-भारी चालान की ख़बरे मीडिया में आ चुकी हैं. बावजूद इसके, ये चालान सबसे अलग है.

Source: Jagran

ओडिशा में एक व्यक्ति को नई नवेली स्कूटी लिए महीने भी नहीं हुए थे कि उसके ऊपर एक लाख का चालान बना दिया गया. ये चालान स्कूटी के कीमत से भी ज़्यादा थी.

22 अगस्त को भुवनेश्वर में होंडा एक्टिवा स्कूटी ख़रीदी गई थी. 12 सितंबर को नियमित चेकिंक के दौरान उसे रोका गया. स्कूटी पर नंबर प्लेट नहीं लगा था. स्कूटी के मालिक से पूछताछ के बाद गाड़ी को सीज़ कर उसे बेचन डीलरशिप के ऊपर एक लाख का चालान बना दिया गया. साथ ही साथ डीलर का लाइसेंस रद्द करने की भी सिफ़ारिश की गई.

भारत में गाड़ी की बिक्री के दौरान ही डीलर को रजिस्ट्रेशन नंबर, इंश्योरेंस पेपर और पॉल्यूशन सर्टिफ़िकेट के साथ वाहन देना होता है. ये पूरा नियम है, बस इसके चालान की दर बढ़ा दी गई है.

इस केस में अभी ये जानकारी उपलब्ध नहीं है कि सीज की गई स्कूटी मालिक को दोबारा कैसे मिलेगी और डिलर के ऊपर क्या कार्यवाई की जाएगी.