जब किसी ने कहा होगा कि आंखों का देखा हुआ भी सच नहीं होता है, तो वो ज़रूर किसी Optical Illusion की बात कर रहा होगा. अब ये चीज़ होती ही ऐसी है. असलियत होती कुछ है और हमें दिखाई कुछ और देता है. कारण- आंख और दिमाग़ के तालमेल में थोड़ी गड़बड़.

अब इस तस्वीर को ही ले लीजिये जो ट्विटर पर वायरल हो गयी है. लोग समझ नहीं पा रहें हैं कि इस तस्वीर में एक इंसान जंगल की तरफ़ जाता हुआ दिख रहा है या एक कुत्ता सामने से आता हुआ दिख रहा है!

इस तस्वीर को जब आप पहली बार देखते हैं तो लगता है कि कोई इंसान बर्फ़ीले जंगल की तरफ़ दौड़ते हुए जा रहा है. लेकिन जब आप इसी तस्वीर को ज़रा गौर से देखेंगे तो पायेंगे कि ये वास्तव में एक काले रंग का पुडल डॉग है जो कैमरे या स्क्रीन की ओर दौड़ रहा है. जी हां, ये तस्वीर किसी इंसान की नहीं, बल्कि एक डॉगी की है. खा गए न धोखा. ये है Optical Illusion कमाल.  

Source: Twitter

हमारा दिमाग़ दरअसल चीज़ों को जल्द से जल्द पहचानने की कोशिश करता है. लाख़ों सालों के विकास ने हमारे दिमाग़ को कुछ ऐसा ही प्रोग्राम किया है. Optical Illusion तब होता है जब दिमाग़ जल्दबाज़ी में किसी निष्कर्ष पर पहुंचने की कोशिश करता है. ऐसा ही कुछ इस तस्वीर में हो रहा है.