देश में हर रोज़ कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ों की संख्या बढ़ती जा रही है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो मरीज़ों की संख्या ज़्यादा और हेल्थकेयर वर्कर्स की संख्या कम हो जायेगी.


एक रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र में हालात कुछ ऐसे ही नज़र आ रहे हैं. हेल्थकेयर वर्कर्स की कमी को पूरा करने के लिए सरकार ने डॉक्टर्स और सेवानिवृत्त डॉक्टर्स से कोविड19 से लड़ने में सहायता मांगी थी.

Source: Indian Express

Hindustan Times की एक रिपोर्ट के अनुसार, सरकार की अपील के बाद Armed Forces Medical Services के सेवानिवृत्त डॉक्टर्स समेत 38,000 से ज़्यादा डॉक्टर्स ने कोविड19 से लड़ने के लिए वॉलंटियर किया है.


एक अधिकारी ने PTI को बताया,

सेवानिवृत्त सरकारी, Armed Forces Medical Services, प्राइवेट और पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग के 38,162 डॉक्टर्स ने सरकार की मदद करने के लिए वॉलंटियर किया है.
Source: NDTV

अधिकारी ने ये भी जानकारी दी कि डॉक्टर्स के नाम को मिनिस्ट्री ऑफ़ हेल्थ ऐंड फ़ैमिली वेलफ़ेयर (एमएचएफ़डब्लू) और नेशनल डिज़ास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (एनडीएमए) को भेज दिया गया है.


बीती 25 मई को सरकार ने डॉक्टर्स से सरकार की मदद करने की अपील की थी.