भारत से हर साल बड़ी संख्या में लोगों का पलायन हो रहा है. गृह मंत्रालय द्वारा मंगलवार को लोकसभा में पेश किए गए आंकड़ों से इसका ख़ुलासा हुआ है. बताया गया कि, 2015 और 2019 के बीच 6.76 लाख से ज़्यादा भारतीयों ने नागरिकता छोड़कर किसी अन्य देश की नागरिकता ले ली.

Source: indiatvnews

दरअसल, कांग्रेस सदस्य कार्ति चिदंबरम के एक लिखित सवाल पूछा था कि, क्या सरकार दोहरी नागरिकता के किसी प्रस्ताव पर विचार कर रही है. इस पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने जवाब दिया कि, फिलहाल सरकार दोहरी नागरिकता के प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रही है.

इसके साथ ही उन्होंने विदेश मंत्रालय के पास उपलब्ध जानकारी के आधार पर बताया कि, कुल 1,24,99,395 भारतीय नागरिक विदेशों में रह रहे हैं.

Source: cnbctv18

आंकड़ों के मुताबिक़, साल 2015 में 1,41,656 भारतीयों ने देश की नागरिकता छोड़ी थी. इसी तरह साल 2016 में कुल 1,44,942 भारतीयों ने नागरिकता छोड़कर किसी अन्य देश की नागरिकता ले ली. 

वहीं, साल 2017 में भारतीय नागरिकता छोड़ने वाले लोगों का आंकड़ा 1,27,905 रहा. साल 2018 में 1,25,130 और साल 2019 में 1,36,441 लोगों ने भारतीय नागरिकता छोड़कर किसी अन्य देश की नागरकिता ले ली.