पाकिस्तानी प्रधानमंत्री, इमरान खान, 13 जून को किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में हुई SCO समिट के बाद सुर्खियों में थे. वो इसलिए क्योंकि उन्होंने वहां का प्रोटोकॉल तोड़ा था. लेकिन अगले ही दिन इतनी बड़ी खबर के बावजूद इमरान खान से एकदम स्पॉट लाइट हट गई. वो इसलिए क्योंकि पाकिस्तान की स्थानीय सरकार "ख़ैबर पख़्तूनख़्वा" ने कुछ ऐसा कर दिया कि सारी मीडिया फुटेज उनके पास आ गई.    

"ख़ैबर पख़्तूनख़्वा" के स्थानीय प्रतिनिधियों ने फ़ेसबुक पर लाइव प्रेस कॉन्फ़्रेंस की लेकिन कैट फ़िल्टर के साथ. पेशावर में हो रही इस प्रेस क़ॉन्फ्रेंस में पाकिस्तानी लीडर शौकत युसुफ़ज़ई के साथ कई लीडर भी मौजूद थे. देखते ही देखते प्रेस कॉन्फ़्रेंस हंसी का पात्र बन गई.  

पाकिस्तानी जर्नलिस्ट नायला इनायत पाकिस्तान की पहली शख़्स थीं जिन्होंने ये देखा. उन्होंने फ़ेसबुक लाइव में कैट फ़िल्टर बंद करने के कई मैसेज भी किए. यहां तक की कैट फ़िल्टर ऑफ़ कराने के लिए उन्होंने पेज एडमिन को मैसेज भी किया और कहा कि नेता बिल्ली बने हुए हैं.  

इस वीडियो के लाइव स्ट्रीम होने के बाद पाकिस्तानी नेताओं का मज़ाक बनना शुरू हो गया. लोग सोशल मीडिया पर नेताओं के मज़े लेने लगे. हमने कुछ फ़नी ट्वीट्स आपके लिए निकाल लिए हैं. 

वहीं अगर इमरान खान के साथ हुए वाकये की बात करें, तो इमरान SCO समिट में जाते साथ ही अपनी सीट पर बैठ गए थे. जबकि प्रोटोकॉल के तहत ओपनिंग सेरेमनी में सभी विश्व के नेताओं का खड़े होकर सम्मान करना था. इमरान खान केवल तभी खड़े हुए, जब उनका नाम पुकारा गया. वहीं बाकी देशों से आए सभी नेता खड़े हुए थे. केवल इमरान ने ही प्रोटोकॉल तोड़ा था.