भारत के सबसे अतरंगी मामलों की लिस्ट बनाई जाए, तो उत्तर प्रदेश की घटनाएं शीर्ष पर होंगी. यहां हर रोज़ कुछ न कुछ ऐसा घटता है, जिसे देख-सुनकर यक़ीन ही नहीं होता कि ये वाक़ई सच है. अब रामपुर जिले की एक पंचायत का ये फ़ैसला ही ले लीजिए, जहां एक लड़की की शादी का फ़ैसला ‘लॉटरी’ निकाल कर किया गया है.  

Source: specialevents

दरअसल, ये मामला कोतवाली टांडा के अजीमनगर थाना इलाक़े का है. यहां एक लड़की कथित तौर पर चार लड़कों के साथ भाग गई थी. चारों ने इस दौरान लड़की को किसी रिश्तेदार के यहां छिपाकर रखा. हालांकि, बाद में ये लड़के पकड़े गए. लड़की के परिवार वाले आरोपियों के ख़िलाफ़ मुकदमा लिखवाना चाहते थे, लेकिन पंचायत ने शादी का प्रस्ताव रख दिया.  

हालांकि, इस मामले में दिलचस्प मोड़ तब आया, जब लड़की से पूछा गया कि वो चारों में से किससे शादी करना चाहती है. इस सवाल का जवाब लड़की के पास भी नहीं था. वो ख़ुद नहीं जानती थी कि उसे चारों में से किसे अपना जीवन साथी चुनना है. वहीं, चारों लड़कों में भी कोई उस लड़की से शादी करने को तैयार नहीं था. ऐसे में पंचायत ने अनोखा तरीक़ा अपनाया.   

Source: theknot

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पंचायत ने लड़की की शादी का फ़ैसला एक ‘लकी ड्रॉ’ के ज़रिए करने का फ़ैसला किया. जिसके तहत, लड़की के लिए दूल्हा चुनने के लिए उन लड़कों के नाम वाली चार पर्चियां बनाकर उसे एक कटोरी में डाला गया. फिर पंचों ने एक बच्चे से पर्ची उठवायी. पर्ची खोलते ही मामले में फ़ैसला हो गया. लड़की की शादी उसी युवक से तय की गई जिसका नाम पर्ची में निकला.  

इस मामले में सबसे अजीब बात ये रही कि पंचायत का ये फ़ैसला सभी पक्षो को मंज़ूर रहा. इस बीच, ग्रामीणों ने लड़की की निजता का हवाला देते हुए मामले पर चुप्पी साध रखी है.