कुछ दिनों से लोग पार्थिव पटेल और उनके पिता की बीमारी के ऊपर सोशल मीडिया पर पोस्ट देख रहे थे, कुछ उन पर यक़ीन कर रहे हैं तो कोई फ़ेक समझ आगे भी बढ़ जा रहे. लेकिन ऐसे पोस्ट की सच्चाई क्या है?

34 वर्षीय विकेटकीपर-बल्लेबाज़ पार्थिव पटेल वर्तमान में बैंगलोर की टीम के साथ जुड़े हुए हैं. अहमदाबाद का ये खिलाड़ी अपने हर मैच के बाद घर की फ़्लाइट पकड़ लेता है. वजह है पार्थिव के पिता का ICU में भर्ती होना.

Source: Firstpost

पर्थिव पटेल के पिता अजय पटेल फ़रवरी से ब्रेन हैमरेज की वजह से अस्पताल में भर्ती हैं, पार्थिव मैच ख़त्म होने के तुरंत बाद अपना फ़ोन चेक करते हैं और अपने पिता को देखने अहमदाबाद जाते हैं.

Source: CricTracker.com

पिता के अस्वस्थ होने की वजह से पार्थिव ने मुश्ताक अली टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लिया, वो IPL खेलने के भी इच्छुक नहीं थे लेकिन घर वालों ने मनाया और कहा कि उनके पिता की भी यही इच्छा होती.

The Indian Express से हुई अपनी बातचीत में पार्थिव ने कहा, 'जब मैं खेल रहा होता हूं तब मेरे दिमाग़ में कुछ और नहीं चलता लेकिन मैच ख़त्म होते ही मेरा दिल घर के बारे में सोचने लगता है. सुबह की शुरुआत ही पिता जी के तबियत की जानकारी लेने से होती है. कई बार मुझे कुछ गंभीर फ़ैसले लेने होते हैं, मेरी पत्नि और मां घर पर हैं लेकिन अंतिम फ़ैसला मुझे ही लेना पड़ता है. शुरुआती समय बेहद नाज़ुक था, क्या हमें वेंटिलेटर कुछ दिनों के लिए बंद कर देना चाहिए या ऑक्सिजन की मात्रा कितनी होनी चाहिए, ऐसे फ़ैसले लेने मुश्किल होते हैं.'

आमतौर पर ऐसा होता नहीं लेकिन RCB के प्रबंधन ने पार्थिव पटेल को मैच के बाद घर जाने की अनुमति दी है. पार्थिव इस सीज़न में अपनी टीम के लिए 10 मैचों में 283 रन बना चुके हैं, जिसमें कुछ मैच जिताऊ पारी भी हैं.