कोरोना वायरस के मामलों में हर रोज़ इज़ाफ़ा देखने को मिल रहा है. राजधानी दिल्ली में भी संक्रमण तेज़ी से फैल रहा है. ऐसे में में बाहर से दिल्ली आने वाले घरेलू यात्रियों को अब 7 दिन के लिए होम क्वारंटीन में रहना होगा. दिल्ली सरकार ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि ट्रेन, बस या फ़्लाइट से दिल्ली पहुंचने वाले प्रत्येक व्यक्ति को अब एक हफ़्ते के लिए अनिवार्य होम क्वारंटीन से गुज़रना होगा. जिला प्रशासन के अधिकारियों को सख़्ती से इस नियम को लागू करने का आदेश दिया गया है. 

Source: indiatoday

इसी के साथ दिल्ली सरकार ने अपने पहले के आदेश में बदलाव कर दिया. इससे पहले ऐसे यात्रियों को सिर्फ सलाह दी ‌थी कि वे राजधानी में प्रवेश करने के बाद 14 दिनों तक ख़ुद को मॉनिटर करें और यदि वायरस के कोई लक्षण दिखते हैं तो डिस्ट्रिक्ट सर्विलांस ऑफ़िसर या नेशनल कॉल सेंटर पर फ़ोन कर जानकारी दें. 

Source: nationalheraldindia

पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में संक्रमण के मामलों में तेज़ी से उछाल देखा गया है. पिछले एक हफ़्ते में हर रोज़ औसतन 1,200 के क़रीब पॉज़िटिव केस सामने आ रहे हैं. पूरे शहर में 120 से अधिक कंटेनमेंट ज़ोन हैं. वहीं, पिछले 24 घंटे के अंदर राजधानी में सर्वाधिक 1,513 कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ मिले हैं. इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना मामलों का आंकड़ा 23,645 पहुंच गया है. 

 मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ये साफ़ कर दिया था कि लॉकडाउन के चलते दिल्ली में राजस्व का काफ़ी नुक़सान हुआ है. ऐसे में हमेशा के लिए लॉकडाउन जारी नहीं रह सकता. इसी के साथ उन्होंने केंद्रीय नीतियों के अनुरूप पाबंदियों में ढील देना शुरू किया, जिसमें सैलून और ब्यूटी पार्लरों को फिर से खोलना शामिल है. 

Source: thenewsnow

हालांकि, एक हफ़्ते के लिए दिल्ली बॉर्डर भी सील कर दिए गए, सिर्फ़ आवश्यक सेवाओं के ही इससे बाहर रखा गया. सीएम केजरीवाल ने कहा था, ‘नागरिकों से सुझाव मांगने के बाद सीमाओं को खोलने के लिए हम एक सप्ताह में फिर से निर्णय लेंगे.’