पश्चिम बंगाल के डानकुनी क्षेत्र स्थित मणप्पुरम फाइनेंस लिमिटेड के ब्रांच में एक आदमी अपनी 2 गाय लेकर पहुंच गया. इस शख़्स को उम्मीद थी कि गाय के बदले उसे गोल्ड लोन मिल जाएगा.


कुछ दिनों पहले पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने बीते सोमवार को बयान दिया था कि देसी गाय के दूध में सोना होता है और विदेशी गाय आंटी होती हैं.

इसके बाद नेता जी तो सोशल मीडिया पर हंसी का पात्र बने ही कुछ लोगों को उनके बात पर यक़ीन भी हो गया!


Kolkata Times 24 की रिपोर्ट के अनुसार, गाय लेकर पहुंचे शख़्स ने कहा, 'गाय के दूध में सोना होता है सुनकर मैं यहां गोल्ड लोन लेने पहुंचा हूं और अपने साथ 2 गाय भी लाया हूं. मेरे घर पर 20 गाय हैं और गाय का दूध बेचकर ही मेरा घर चलता है. अगर सच में गाय के दूध में सोना होता है और मुझे गोल्ड लोन मिल जाता है तो मैं अपना बिज़नेस अच्छे से चला पाऊंगा.'

Source: Kolkata Times 24

गड़लगाछा ग्राम पंचायत के प्रधान, मनोज सिंह ने दिलीप घोष के इस बयान की कड़ी आलोचना की है.


'हमारे पास गाय के बदले कितने रुपये का लोन मिलेगा सवाल और अपने गाय के साथ रोज़ कई लोग आ रहे हैं. ये लोग ये भी कहते हैं कि मेरी गाय 15-16 लीटर दूध देती है इस पर मुझे कितना लोन मिलेगा?'

दिलीप घोष न तो अपना बयान वापस लिया है और न ही इस मामले पर कुछ कहा है. गाय लेकर लोन लेने पहुंचे लोगों पर हंसी भी आ रही है और उनकी मासूमियत पर दया भी.