कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन ने पूरे देश को नशा मुक्ति केंद्र में तब्दील कर दिया था. मासूम शराबी बेचैन हो उठे थे. एक तरफ़ उनकी आंतों में कुलबुलाहट बढ़ गई थी, तो वहीं दूसरी तरफ़ देश की अर्थवयवस्था में अपना अमूल्य योगदान न कर पाने का गम उन्हें सोने नहीं दे रहा था.

माधुरी दीक्षित ने डिंग-डांग-डिंग कर जित्ता पिया का इंतज़ार नहीं किया था, उससे ज़्यादा इंतज़ार इन शराबियों ने दिन गिन-गिनकर मदिरालय खुलने का किया. आख़िरकार वो दिन आ ही गया. लॉकडाउन दो हफ़्ते आगे बढ़ा और साथ ही कुछ रियायतें भी मिल गईं. मसलन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए ठेके खुल सकेंगे.

Source: businesstoday

बस फिर क्या, जहां देखो वहां लाइन. शराबियों और ठेका मालिकों के बीच इत्ता प्यार उमड़ आया कि बाकायदा फूल-मालाओं के साथ स्वागत हुआ. इसी इंतज़ार और प्यार का ही नतीज़ा है कि नैनीताल में लोग मूसलाधार बारिश और ओलों के बीच वॉइन शॉप के बाहर खड़े दिखे.

ये नज़ारा नैनीताल जिले में मॉल रोड की एक वाइन शॉप का है. यहां शराब का जुनून लोगों के सिर इस हद तक चढ़ा है कि उन्हें ख़ुद के सिर पर पड़ रहे ओलों का भी ख़्याल नहीं है और न ही भारी बारिश की चिंता है. ये लोग बड़े इत्मिनान से छाता लेकर दुकान के बाहर लाइन में लगे हैं, और अपने नंबर का इंतज़ार कर रहे हैं.

अब ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसके बाद ट्विटर पर जमकर मौज ली जा रही है. तफ़री का आलम ये है कि लोग कह रहे हैं कि कुदरत ने इनके लिए मुफ़्त में ही बर्फ़ का जुगाड़ कर दिया है.

बता दें, पूरे देश में शराब की दुकानों के बाहर लंबी-लंबी लाइनें लगी हैं. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिग का पालन भी नहीं हो पा रहा. इसे देखते हुए मुंबई में शराब की दुकानें वापस से बंद कर दी गईं हैं. वहीं, दिल्ली में शराब की एमआरपी पर 70 फ़ीसदी टैक्स वसूला जा रहा है.