'Koe Knuffelen' नाम का एक नया ट्रेंड लोगों में तेज़ी से पॉपुलर हो रहा है. डच भाषा के शब्द 'Koe Knuffelen' का अर्थ ‘गाय को गले लगाना’ है. इस ट्रेंड को फॉलो करने वाले लोगों का दावा है कि गाय को गले लगाने से इंसान में पॉज़िटिविटी बढ़ती है और तनाव घटता है. 

Source: indebuurt

लोगों का मानना है कि गाय की गर्दन और पीठ की तरफ़ कुछ ख़ास नर्म हिस्सों को सहलाने से इंसान में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है. इस फ़ार्म बेस्ट एक्टिविटी को इंसानों में मूड बूस्टर के तौर पर प्रचारित किया जा रहा है.

Source: knuffelkoe

हालांकि, ये कॉन्सेप्ट नया नहीं है. कहा जाता है कि ये एक्टिविटी ग्रामीण डच प्रांतों से उपजी है और एक दशक से भी ज़्यादा पुरानी है. अब ये ट्रेंड तेज़ी से लोगों के बीच लोकप्रिय हो रहा है. स्विटज़रलैंड और संयुक्त राज्य अमेरिका में किसानों ने अब गाय को गले लगाने के सत्र की पेशकश शुरू कर दी है. 

गाय पालने वाले या फिर डेरी फार्म के लोगों ने अपने यहां पर कुछ खास गायों को लोगों के साथ समय बिताने के लिए चुना हुआ है.

Source: uitinvlaanderen

रिपोर्ट के मुताबिक, गाय का गर्म तापमान और उसकी धीमी धड़कन सकारात्मकता को फैलाने और लोगों में तनाव कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. इस एक्टिविटी से ऑक्सिटॉसिन हार्मोन शरीर में बढ़ता है, जो आम तौर से सोशल बांडिंग के वक्त शरीर में बनता है.

इंसानों के साथ गायों के लिए भी है फ़ायदेमंद

Applied Animal Behaviour Science द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, सत्रों में भाग लेने वाले लोगों ने हृदय गति कम होने का अनुभव किया और उन्हें आराम मिला. हालांकि, इसका लाभ सिर्फ़ इंसानों तक सीमित नहीं है और गाय को भी इस एक्टिविटी से फ़ायदा होता है.

Source: boerderijwammes

2007 की एक स्टडी के अनुसार, सत्र के दौरान गायों के भी काफ़ी अच्छा महसूस होता है. दोनों के बीच सकारात्मक ऊर्जा का आदान प्रदान होता है. कई बार गाय व्यक्ति कि गोद में अपना सर रख देती है, ये दिखाता है कि वो काफी अच्छा महसूस कर रही हैं.