इस वक़्त देश में किसान आंदोलन को लेकर माहौल गर्म है. पहले भी ट्विटर ने आईटी मंत्रालय के निर्देश पर 250 ट्विटर अकाउंट्स सस्पेंड किये थे. इसके बावज़ूद भी ट्विटर और भारत सरकार की गहमागहमी तब से बनी हुई है. इसी बीच ट्विटर इंडिया की पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर (इंडिया एवं साउथ एशिया) महिमा कौल ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. 

Source: newsroompost

इन सब के बीच ट्विटर का 'मेड इन इंडिया' वर्ज़न Koo सुर्ख़ियों में है क्योंकि भारत सरकार के कई मंत्री Koo में अपना अकाउंट बना रहे हैं. 9 फ़रवरी को केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने अपने ट्विटर अकाउंट में इसके बारे में पोस्ट किया. उन्होंने लिखा, "मैं अब कू पर हूं. रियल टाइम, एक्साइटिंग और एक्सक्लूसिव अपडेट के लिए इस भारतीय माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर मेरे साथ जुड़ें। आइए हम कू पर अपने विचारों और विचारों का आदान-प्रदान करें."

आपको बता दें कि पीयूष गोयल के अलावा केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, आईएएस अधिकारी सोनल गोयल भी कू में अपना अकाउंट बना लिया. कू में इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, इंडिया पोस्ट, MyGov और नीति आयोग के आधिकारिक हैंडल ने इस नए माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर अपने अकाउंट बना लिए हैं.

Source: newindianexpress

क्या है Koo?

Koo ट्विटर जैसी ही माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट है. इस App को मार्च 2020 में अप्रमी राधाकृष्ण और मयंक बिदावतका द्वारा बनाया गया है. इसे अभी ट्विटर के विकल्प के रूप में देखा जा रहा है. भारतीयों के लिए ये App में हिंदी, तेलुगु, कन्नड़, बंगाली, तमिल, मलयालम, गुजराती, मराठी, पंजाबी, उड़िया और असमिया जैसी कई क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध होगा.

Source: pointgadget

पिछले साल भारत सरकार ने आत्मनिर्भर भारत एप चैलेंज लॉन्च किया था, जिसका एक हिस्सा Koo भी था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात में भी इस App की तारीफ़ की है.

डाउनलोड कैसे करें?

ये App Google play store और iOS ऐप स्टोर में मौज़ूद है. साथ ही इस App को आप अपने लैपटॉप या डेस्कटॉप से भी इस्तेमाल कर सकते हैं. Android यूज़र्स इस App को डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें और iOS यूज़र्स इस App को डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप सीधा वेबसाइट पर भी जा सकते हैं.