बीते रविवार को पीएम मोदी ने वाराणसी से इंदौर के बीच शुरू हुई नई ट्रेन काशी-महाकाल एक्सप्रेस को हरी झंड़ी दिखाई. ये ट्रेन यूपी और एमपी में मौजूद तीन ज्योतिर्लिंगों के दर्शन कराएगी. काशी और मध्य प्रदेश के उज्जैन, ओंकारेश्वर ज्याेतिर्लिंग तीर्थस्थलाें काे जाेड़ने वाली IRCTC की इस निजी ट्रेन की ख़ासियत ये है कि इसमें एक सीट भगवान शिव के लिए भी आरक्षित की गई है.

Source: jagran

पीएम मोदी ने रविवार को एक वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिए इस ट्रेन का शुभारंभ किया. ट्रेन में 9 एसी थ्री कोच, पैंट्री कार, 2 ब्रेक वैन कोच होंगे. ये देश की तीसरी निजी ट्रेन होगी. इसके अलावा हर बोगी में कॉफ़ी और चाय की वेंडिंग मशीन होगी, जिसके लिए पैसे नहीं चुकाने होंगे.

Source: economictimes

इस ट्रेन में हर कोच में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. ट्रेन में भक्ति संगीत और केवल शाकाहारी भोजन की सुविधा भी मिलेगी. इस ट्रेन के हर कोच में 5 सुरक्षाकर्मी तैनात होंगे, कुल 1080 सीटें होंगी. इसका न्यूनतम किराया 1629 रु. होगा. ट्रेन सप्ताह में दो दिन मंगलवार और गुरुवार को वाराणसी से चलेगी. इस ट्रेन से संबंधित कई टूर पैकेज भी बनाए गए हैं, जिन्हें आप IRCTC की वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं.

Source: twitter

आईआरसीटीसी ने इसके लिए बुकिंग शुरू कर दी है. ट्रेन में डाइनैमिक फे़यर रहेगा. यानी 70 फ़ीसदी सीटें रिज़र्व होने के बाद प्रति सीट किराया 10 प्रतिशत बढ़ेगा. इसके साथ ही हर यात्री का 10 लाख रुपए तक का बीमा भी किया जाएगा. काशी-महाकाल एक्सप्रेस की एक सीट को भगवान शिव के लिए आरक्षित रखा गया है.

Source: twitter

उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने बताया कि ट्रेन के काेच B5 में सीट नंबर 64 काे भगवान शिव के लिए आरक्षित रखा गया है. रेलवे के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी सीट पर मंदिर बना कर उसे भगवान के लिए आरक्षित रखा गया है. इसे लेकर एक विवाद भी खड़ा हो गया है. 

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने ट्रेन में मंदिर बनाए जाने का विरोध किया है. उन्होंने पीएमओ को टैग करते हुए संविधान की प्रस्तावना को ट्वीट किया है.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.