मुंबई में एक उबर ड्राइवर अपनी सवारी को पुलिस थाने ले गया. वजह थी उसका फ़ोन पर CAA प्रोटेस्ट पर बातें करना. ड्राइवर को उस पर शक़ हुआ कि वो कुछ ग़लत करने जा रहे हैं, इसलिए वो कैब में बैठे शख़्स को पुलिस थाने लेकर पहुंच गया. 

इस पूरी घटना के बारे में विस्तार से एक पोस्ट में बताया गया है, जो ट्विटर पर शेयर की गई है. इसे शेयर किया है कविता कृष्णन ने जो ऑल इंडिया प्रोग्रेसिव वुमंस एसोसिएशन की सचिव हैं. उनकी इस पोस्ट के अनुसार, जिस शख़्स को थाने ले जाया गया था उनका नाम बप्पादित्य सरकार है, जो एक कवि हैं. उन्होंने बीते बुधवार को रात 10 बजे जुहू से कुर्ला के लिए उबर की कैब बुक की थी.

Source: twitter

अपनी इस यात्रा के दौरान वो अपने किसी दोस्त से CAA को लेकर पूरे देश में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर बातें कर रहे थे. वो कह रहे थे कि दिल्ली के शाहीन बाग में जो लाल सलाम के नारे लगे रहे हैं वो ग़लत है. लाल सलाम का नाम सुन और उसके पहनावे जिसमें लाल गम्छा भी शामिल था, उसे देख कर कैब ड्राइवर को उन पर शक़ हुआ. 

इसलिए ड्राइवर बीच में कैब रोक एटीएम से पैसे निकालने की बात कह चला गया. जब वो वापस आया तो उसके साथ दो पुलिसवाले थे. उन्होंने बप्पादित्य से पूछताछ करनी शुरू कर दी. उन्होंने बप्पादित्य से पूछा कि उनके पास डफली क्यों हैं और वो कहां रहते हैं. इस पर बप्पादित्य ने बताया कि वो जयपुर से हैं और मुंबई बाग में हो रहे CAA के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने गए थे.

Source: twitter

वहीं ड्राइवर बार-बार पुलिस से बप्पादित्य को हिरासत में लेने को कह रहा था. उसका कहना था कि वो एक कम्युनिस्ट है और देश को नुकसान पहुंचाने की बात कर रहा था. उसने दावा किया कि बप्पादित्य की सारी बात रिकॉर्ड कर रखी है.

उस ट्वीट के अनुसार, बप्पादित्य और चालक दोनों थाने पहुंचे. यहां पुलिस ने बप्पादित्य से पूछताछ की और चालक की बात भी सुनी. इस दौरान चालक ने कथित तौर पर बप्पादित्य को ये भी कहा कि ‘तुम लोग देश को बर्बाद कर दोगे और हम चुपचाप बैठे देखते रहेंगे. ये तो अच्छा हुआ हम आपको थाने ले आए नहीं तो कहीं और... ’

वहीं पुलिस बप्पादित्य के साथ नर्मी से पेश आई और उन्होंने कुछ देर बाद उन्हें छोड़ दिया. साथ ही ये सलाह दी कि माहौल ख़राब है और अपने पास ये डफली और लाल गमच्छा न रखा करें. कविता कृष्णन ने इस ट्वीट में मुंबई पुलिस, बप्पादित्य और उबर को टैग किया है. इस पर उबर और मुंबई पुलिस के ट्विटर हैंडल से मामले की जांच कर उचित कार्रवाई करने की बात कही गई है.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.