कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ किसानों के 'दिल्ली चलो' प्रदर्शन को समर्थन मिलने की फ़ेहरिस्त लंबी होती जा रही है. मंगलवार को भीम आर्मी के चंद्रशेखर और शाहीन बाग़ वाली 'दादी' बिलकिस बानो भी 'किसान आंदोलन' को समर्थन देने 'सिंघु बॉर्डर' पहुंचे थे. लेकिन पुलिस ने इन दोनों को गिरफ़्तार कर लिया. 

बिलकिस बानो पहली बार दिल्ली के शाहीन बाग़ में CAA और NRC का विरोध कर सुर्ख़ियों में आयी थीं. शाहीन बाग में 'दादी' के नाम से सुर्ख़ियां बटोरने वाली बिल्किस बानो किसान आंदोलन के समर्थन में भी कूद पड़ी थीं. मंगलवार को वो किसानों के आंदोलन में शामिल होने के लिए 'सिंघु बॉर्डर' पहुंच गयी थीं.

Source: navbharattimes

हालांकि, किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के लिए 'सिंघू बॉर्डर' (दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर) पर पहुंची 'दादी' को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. मूलरूप से उत्तर प्रदेश के हापुड़ की रहने वाली 82 वर्षीय बिलकिस बानो बहू और पोतों के साथ शाहीन बाग़ में ही रहती हैं. 

Source: trunicle

बता दें कि हाल ही में 'बीबीसी' ने बिलकिस बानो को साल 2020 की 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया था.