बच्चे कितने मासूम होते हैं यार! हम पुलिस के पास जाने में हज़ार बार सोचते हैं, कुछ बड़ा हो जाता है तब भी ये सोच कर टाल जाते हैं कि कौन थाने के चक्कर में पड़े!

Source: Indian Express

दस साल का बच्चा, साइकिल बनाने वाले की शिकायत लेकर थाने चला गया, क्योंकि वह लड़के की साइकिल बनाकर नहीं दे रहा था.

केरल के Kozhikode में पांचवी क्लास में पढ़ने वाला दस साल का Abin, हाथ में स्कूल की कापी के पन्ने पर शिकायत पत्र लिख कर थाने पहुंच गया.

बच्चे की शिकायत पत्र मलयाली भाषा में लिखा था, उसने शिकायती लहज़े में लिखा था 'उन्होंने मुझसे 200 रुपये एडवांस में ले लिए हैं और हम जब भी साइकिल के बारे में पूछने के लिए फ़ोन करते वो या तो उठाते नहीं या कहते हैं कि जल्द ही साइकिल ठीक कर के देंगे. हम जब भी दुकान पर जाते, दुकान बंद मिलती है.'

25 तारीख को यह शिकायत पत्र लिखा गया था, उसने साइकिल बनने के लिए 5 सितंबर को दी थी. Abin अपने भाई के साथ थाने गया था. पुलिस ने बच्चे की शिकायत पर कार्यवाई की और साइकिल मिस्त्री से बात भी की.