उत्तर प्रदेश के कानपुर से एक बेहद अतरंगी और हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. शहर के प्रमुख डाकघर ने अंडरवर्ल्‍ड माफ़िया डॉन छोटा राजन और मारे जा चुके कुख़्यात गैंगस्‍टर मुन्‍ना बजरंगी की तस्वीरों वाली डाक टिकट जारी कर दी हैं. 

'माई स्टैम्प’ स्कीम के तहत दोनों के 5-5 रुपए के 12-12 टिकट छापे गए हैं. मीडिया में बात सामने आने के बाद अब विभाग में हडकंप मच गया है. 

पोस्‍ट मास्‍टर जनरल वीके वर्मा ने डाक टिकट जारी करने में हुई चूक को स्‍वीकार करते हुए बताया कि, अनियमितता और खामियों की जांच शुरू कर दी गई है.

Source: twitter

उन्होंने कहा कि, ‘ये पाया गया है कि एक अनाम शख़्स ने 600 रुपये देकर 5 रुपये के अंकित मूल्य वाले इन टिकटों को छापने का अनुरोध किया था. डाक टिकट जारी करने से पहले पहचान की जो आवश्‍यक प्रक्रिया है, उसका अनुपालन किए बिना ही ज़िम्‍मेदार कर्मचारी ने डाक टिकट जारी कर दिए.’

इस मामले में डाकघर के फ‍िलाटेली विभाग के प्रभारी रजनीश कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है. साथ ही कुछ अन्‍य कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है.

उन्होंने कहा, भविष्य में ऐसी ग़लती दोबारा न हो, ये सुनिश्चित करने के लिए सख्त कदम उठाने का फ़ैसला किया गया है.

Source: deccanherald

दरअसल, मोदी सरकार ने साल 2017 में 'माई स्टैम्प स्कीम’ शुरुआत की थी. भारतीय डाक विभाग द्वारा चलाई जा रही इस स्कीम के तहत कोई भी नागरिक 300 रुपए देकर 12 डाक टिकटें छपवा सकता है. इस तरह एक डाक टिकट की क़ीमत 5 रुपए है. 

उल्‍लेखनीय है कि छोटा राजन मुंबई की एक जेल में है और मुन्ना बजरंगी की 2018 में उत्‍तर प्रदेश की बागपत जेल में हत्‍या कर दी गई थी.