26 फ़रवरी को हुई एयर स्ट्राइक के बाद पहली बार एयर चीफ़ मार्शल बी. एस. धनोआ आज मीडिया से मुख़ातिब हुए.

Source: NDTV

लगातार ये सवाल उठ रहे थे कि आखिर एयर फ़ोर्स द्वारा हुए एयर स्ट्राइक में कितने आतंकवादी मारे गए. इसका जवाब चीफ़ एयर मार्शल ने अपने तरीके से दिया. उन्होंने कहा, 'IAF इस स्थिति में नहीं है कि वो ये बताए कि कितने आतंकवादी मारे गए. ये सरकार बताएगी, हम लाश नहीं गिनते, हम टार्गेट गिनते हैं. "

ऑपरेशन में MiG-21 Bison एयरक्राफ़्ट इस्तेमाल के सवाल के जवाब में बी. एस. धनोआ ने कहा MiG-21 Bison एक सक्षम एयरक्राफ़्ट है और जब दुश्मन हमला करता है, तो जो भी एयरक्राफ़्ट मौजूद होता है, वो मैदान में उतरते हैं. सभी एयरक्राफ़्ट दुश्मन से लड़ने में सक्षम हैं.

धनोआ ने विंग कमांडर अभिनंदन के बारे में कहा कि वो सभी किस्म की मेडिकल और फ़िटनेस जांच के बाद वापस से फ़ाइटर कॉकपिट में जा पाएंगे.

वायु सेना में फ़ाइटर स्क्वॉड्रन की कमी के सवाल पर एयर चीफ़ मार्शल ने मीडिया के बताया कि सितंबर के महीने तक उनके पास रफ़ाएल होगा. एयर फ़ोर्स ने 36 रफ़ाएल, 40 तेजस और डेढ़ स्क्वॉड्रन सुखोई के लिए डील की है.