जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए CRPF आतंकी हमले के बाद से हर भारतीय शोक में है. इस आतंकी हमले में 42 जवान शहीद हुए हैं और कई ज़िंदगी के लिए लड़ रहे हैं. शहीदों के परिजन इस वक़्त जिस मन:स्थिति में हैं, उसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते. इसी बीच आतंकी हमले में शहीद हुए बिहार के भागलपुर के शहीद रतन ठाकुर के पिता ने जो बयान दिया है, उसे सुनने के बाद हर किसी का मन उन्हें सैल्यूट करने को करेगा.

Source: India Today

उन्होंने कहा है कि वो अपने देश के लिए दूसरे बेटे को भी क़ुर्बान करने को तैयार हैं, लेकिन पाकिस्तान को सबक सिखाया जाना चाहिए.

एएनआई को दिए बयान में उन्होंने कहा, ‘मैंने मातृभूमि की रक्षा के लिए अपने एक बेटे को क़ुर्बान कर दिया है. मैं अपने दूसरे बेटे को भी लड़ने के लिए भेजने को तैयार हूं, लेकिन पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया जाना चाहिए.’

इस आतंकी हमले में केरल के सीआरपीएफ़ के जवान वी.वी. वसंथकुमार भी शहीद हुए हैं. उनके परिवार ने भी उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए, उनकी शहादत पर गर्व होने की बात कही है.

Source: manoramaonline

आतंकवादियों की इस कायराना हमले की चारों तरफ़ निंदा हो रही है. इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक, जानकारों का कहना है कि इस वारदात के पीछे पाकिस्तान का हाथ है, जो आतंकियों को पनाह देता है.

Source: Indian Express

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की बात कुबूल की है. आतंकियों ने जम्मू से श्रीनगर जा रहे क़रीब 3000 जवानों के काफ़िले को एक आईइडी से भरी कार को टक्करा दिया था. उसके बाद कुछ आतंकियों ने जवानों पर गोलियां भी चलाई थी.

पीएम मोदी ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि आतंकवादियों ने बहुत बड़ी ग़लती कर दी है और उन्हें इसकी कीमत चुकानी होगी. वहीं पाकिस्तान ने इस हमले में अपना हाथ होने की बात को सिरे से नकार दिया है.