पुणे में एक 38 वर्षीय ऑटो चालक सड़क दुर्घटना में बुरी तरह जख़्मी हो गया था. जिसके बाद उसे तुरंत शहर के 'डी. वाए. पाटिल मेडिकल हॉस्पिटल और रिसर्च सेंटर' में भर्ती कराया गया. लेकिन इलाज के दौरान उसे बचाया नहीं जा सका. 

इसके बाद अस्पताल के अंग दान विभाग ने मृतक के परिवारजनों को उनके अंग दान करने की सलाह दी. इस पर काफ़ी विचार-विमर्श के बाद परिवार वाले मान गए और मृतक के 6 अंग दान कर दिए.

auto driver
Source: theindianfeed

इस दौरान परिजनों ने उनका लीवर, हार्ट, अग्न्याशय, कॉर्निया और दोनों गुर्दे दान कर कई लोगों की नई ज़िंदगी देने का पुण्य काम किया. इस तरह से मृतक ऑटो ड्राइवर जाते जाते कई लोगों को नया जीवन दे गया.

अस्पताल के कुलपति का कहना था कि 'ऑर्गन डोनर' न मिल पाने की वजह से हर साल कई हज़ारों लोगों की जान चली जाती है.